• Dainik Kshitij Kiran

अनंतनाग में गश्ती दल पर आतंकी हमला, सीआरपीएफ के पांच जवान शहीद

अनंतनाग । अनंतनाग जिले के केपी रोड पर बुधवार को आतंकियों ने सीआरपीएफ व पुलिस के एक संयुक्त गश्ती दल पर हमला कर दिया। इस हमले में सीआरपीएफ के पांच जवान शहीद हो गए। इस दौरान शुरू हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को भी मार गिराया है। इस हमले में एसएचओ सदर अनंतनाग इंस्पेक्टर इरशाद भी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने उन्हें श्रीनगर अस्पताल रेफर कर दिया है। इस आतंकी हमले में एक महिला भी घायल हुई है। सुरक्षाबलों ने आतंकियों को घेरे में ले लिया है तथा गोलीबारी जारी है। अनंतनाग में ऑक्सफोर्ड स्कूल के पास बुधवार को सीआरपीएफ तथा पुलिस के एक संयुक्त गश्ती दल पर क्षेत्र में पहले से छिपे आतंकियों ने अचानक भारी गोलीबारी शुरू कर दी। मोर्चा सम्भालते हुए सीआरपीएफ के जवानों ने भी जवाबी गोलीबारी की। आतंकियों की इस गोलीबारी में छह जवान, एक एसएचओ व एक महिला गम्भीर रूप से घायल हो गए जबकि इस दौरान एक आतंकी भी मारा गया। घायल को तुरंत पास के अस्पताल ले जाया गया, जहां पर डाक्टरों ने पांच जवानों को मृत घोषित कर दिया जबकि अन्य घायलों व महिला का अस्पताल में उपचार जारी है। एसएचओ अनंतनाग की गम्भीर हालत को देखते हुए उन्हें श्रीनगर अस्पताल रेफर कर दिया गया है। समाचार लिखे जाने तक हमलावर आतंकियों तथा सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है। अनंतनाग में पुलिस और सीआरपीएफ के संयुक्त दल पर हुए इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी अल उमर मुजाहिदीन ने ली है। अल उमर मुजाहिदीन के प्रवक्ता ने एक बयान में दावा किया है कि उसके कैडरों ने ही सुरक्षाबलों की पार्टी पर हमला किया, जिसमें पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हुए हैं।



0 views0 comments

Recent Posts

See All

सोने की लंका लुटी पांच सितारा उपचार में

आलोक पुराणिक कबीरदास सिर्फ संत ही नहीं थे, अर्थशास्त्री थे। उनका दोहा है—सब पैसे के भाई, दिल का साथी नहीं कोई, खाने पैसे को पैसा हो रे, तो जोरू बंदगी करे, एक दिन खाना नहीं मिले, फिरकर जवाब करे। सब पैस

पश्चिम बंगाल में चुनावी कटुता भुलाने का समय

कृष्णमोहन झा/ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और केंद्र की मोदी सरकार के बीच टकराव का जो सिलसिला ममता बनर्जी के दूसरे कार्यकाल में प्रारंभ हुआ था वह उनके तीसरे कार्यकाल की शुरुआत में ही पहले स

उत्पादकता बढ़ाने में सहायक हो ऋ ण

भरत झुनझुनवाला वर्तमान कोरोना के संकट को पार करने के लिए भारत सरकार ने भारी मात्रा में ऋण लेने की नीति अपनाई है। ऋण के उपयोग दो प्रकार से होते हैं। यदि ऋण लेकर निवेश किया जाए तो उस निवेश से अतिरिक्त आ