• Dainik Kshitij Kiran

15 जुलाई को लॉन्च होगा मिशन चंद्रयान-2

बेंगलुरु चंद्रमा पर भारत के दूसरे मिशन चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण 15 जुलाई को किया जाएगा। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष डॉ. के. शिवन ने बुधवार को यहां प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण 15 जुलाई को तड़के दो बजकर 51 मिनट पर किया जाएगा। इसके प्रक्षेपण के लिए 3.8 टन वजन वाले जीएसएलवी-एमके3 प्रक्षेपण यान का इस्तेमाल किया जाएगा। मिशन इस मायने में खास है कि इसका लैंडर चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव के निकट उतरेगा। अब तक भेजे गये दुनिया के किसी भी मिशन में चंद्रमा के इस हिस्से पर लैंडिंग नहीं करायी गयी है। ऑर्बिटर चंद्रमा की सतह से 100 किलोमीटर ऊपर चक्कर लगाता रहेगा। लैंडर के आहिस्ते से चंद्रमा की सतह पर उतरने के बाद रोवर उससे अलग होकर सतह पर घूम-घूमकर प्रयोग करेगा और भविष्य के प्रयोग के लिए जरूरी साक्ष्य एकत्र करेगा। चंद्रयान-2 पर 13 भारतीय पेलोड (प्रयोग के लिए भेजे जाने वाले वैज्ञानिक उपकरण आदि) तथा एक नासा का पेलोड होगा। भारतीय उपकरणों में आठ ऑर्बिटर पर, तीन लैंडर पर और दो रोवर पर होंगे।

0 views0 comments

Recent Posts

See All

सोने की लंका लुटी पांच सितारा उपचार में

आलोक पुराणिक कबीरदास सिर्फ संत ही नहीं थे, अर्थशास्त्री थे। उनका दोहा है—सब पैसे के भाई, दिल का साथी नहीं कोई, खाने पैसे को पैसा हो रे, तो जोरू बंदगी करे, एक दिन खाना नहीं मिले, फिरकर जवाब करे। सब पैस

पश्चिम बंगाल में चुनावी कटुता भुलाने का समय

कृष्णमोहन झा/ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और केंद्र की मोदी सरकार के बीच टकराव का जो सिलसिला ममता बनर्जी के दूसरे कार्यकाल में प्रारंभ हुआ था वह उनके तीसरे कार्यकाल की शुरुआत में ही पहले स

उत्पादकता बढ़ाने में सहायक हो ऋ ण

भरत झुनझुनवाला वर्तमान कोरोना के संकट को पार करने के लिए भारत सरकार ने भारी मात्रा में ऋण लेने की नीति अपनाई है। ऋण के उपयोग दो प्रकार से होते हैं। यदि ऋण लेकर निवेश किया जाए तो उस निवेश से अतिरिक्त आ