8 घंटों में 2 धमाकों से दहला ऊधमपुर, आतंकी साजिश की आशंका

ऊधमपुर (आरएनएस)। जम्मू संभाग के ऊधमपुर में 8 घंटे के अंदर एक और बस में रहस्यमयी धमाका हुआ है। हादसे में किसी के हताहत होने की फिलहाल कोई खबर नहीं है। पहला धमाका बीती रात 10.30 पर उधमपुर के दोमेल में हुआ तो दूसरा धमाका ऊधमपुर के मुख्य बस स्टैंड में हुआ। दोमेल में हुए धमाकों में बस के परखच्चे उड़ गए और दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। वहीं आज सुबह 5:40 के करीब उधमपुर के बस स्टैंड में दूसरा धमाका होता है गनीमत यह रही कि किसी भी व्यक्ति की कोई भी घायल होने की जानकारी नहीं है। वाहन बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है। इससे पहले कल ऊधमपुर में सैन्य चौकी के पास पेट्रोल पंप पर खड़ी बस में शक्तिशाली धमाका हुआ। धमाके से दो बसें क्षतिग्रस्त हो गईं, जबकि दो लोग घायल हो गए। प्रथम दृष्टया इसे आतंकी साजिश माना जा रहा है। सेना, सीआरपीएफ और पुलिस ने इलाके को घेरकर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि ऊधमपुर में पुराने हाईवे पर टीसीपी दोमेल क्षेत्र में बैगड़ा पेट्रोल पंप पर एक मिनी बस समेत छह बसें खड़ी थीं।

रोज की तरह बसंतगढ़ रूट की बस (जेके14डी-6857) शाम छह बजे खड़ी हुई थी और रात 10.30 बजे इस बस में जोरदार धमाका हुआ। बस और पास ही खड़ी मिनी बस (जेके14जी-5147) का एक हिस्सा भी चकनाचूर हो गया।

बस कंडक्टर सुनील सिंह और मिनी बस कंडक्टर विजय कुमार घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल पहुंचाया गया। धमाका इतना जोरदार था कि आसपास के आवासीय इलाकों में इमारतों में भी कंपन महसूस की गई। पुलिस, सेना और सीआरपीएफ के आला अफसरों ने घटनास्थल पर पहुंचकर छानबीन की।

पेट्रोल पंप के ठीक सामने सेना की चौकी भी है। खुफिया एजेंसियां और पुलिस आतंकी हमले के एंगल से इन्कार नहीं कर रहे हैं। हालांकि अभी तक धमाके की वजह साफ नहीं हो पाई है। वहीं, इससे कुछ घंटे पूर्व ही नियंत्रण रेखा (एलओसी) से सटे पुंछ जिले में एक महिला को चार किलो आईईडी के साथ पकड़ा गया।

गृहमंत्री अमित शाह के तीन से पांच अक्तूबर तक जम्मू कश्मीर के दौरे आ रहे हैं। इससे पहले ऊधमपुर में धमाके होने से खुफिया एजेंसियां सतर्क हो गई हैं।

पूछताछ के लिए आरोपी महिला जैतून अख्तर और मोहम्मद रियाज नामक शख्स को हिरासत में लिया गया है। पुंछ से सटे राजोरी जिले में गृह मंत्री की चार अक्तूबर को रैली है। इसे लेकर दोनों जिलों में सुरक्षा अमले को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

बताया जा रहा है कि एसओजी के खुफिया इनपुट पर महिला को पुंछ नगर के बीचो बीच स्थित परेड स्थित पार्क से बैग के साथ पकड़ा गया। आईईडी कहां से आई और कहां ले जाई जा रही थी, इसे लेकर पूछताछ की जा रही है। गृह मंत्री के दौरे से पूर्व शक्तिशाली विस्फोटक पकड़े जाने के पीछे बड़ी साजिश मानी जा रही है।

धमाके से घायल बस कंडक्टर सुनील सिंह की पीठ पर छर्रे लगे हैं। सुनील ने बताया कि कठुआ रूट की बस से दो नग बसंतगढ़ रूट की बस की छत पर रखे गए थे। उसने खुद तिरपाल से सामान ढका और बस में सोने के लिए चला गया। इसके कुछ ही देर बाद जोरदार धमाका हो गया।

आतंकवाद के सफाए से लंबे समय तक शांत रहे राजोरी और पुंछ जिले जम्मू संभाग में फिर से आतंकी गतिविधियों की चपेट में आ गए हैं। फरवरी 2021 में संघर्ष विराम समझौते के बाद गोलाबारी तो थम गई लेकिन ओवर ग्राउंड नेटवर्क बेहद सक्रिय हो गया है।

हाल के महीनों में राजोरी और पुंछ जिलों में विस्फोट, घात लगाकर आतंकी हमले और कई मुठभेड़ हो चुकी हैं। एलओसी से सटे इलाकों से ड्रग्स और जाली करेंसी रैकेट से जुड़े भी कई मामले पकड़े गए हैं।

यही वजह है कि सेना अध्यक्ष व उत्तरी कमान प्रमुख राजोरी व पुंछ के कई दौरे चुके हैं। राजोरी-पुंछ में लगातार गतिविधियां बढऩे पर सुरक्षा ग्रिड मजबूती के लिए कई बैठकें हो चुकी हैं।

00


2 views0 comments