41 जिलों में भाजपा सरकार, कांग्रेस दस पर सिमटी

भोपाल (ए)। मध्य प्रदेश में शुक्रवार को हुए जिला पंचायत अध्यक्ष-उपाध्यक्ष के चुनाव में भाजपा समर्थित प्रत्याशियों ने शानदार जीत दर्ज की। 51 में से 41 जिलों में भाजपा सरकार बनी है, वहीं कांग्रेस दस जिलों में सिमट गई। कोर्ट द्वारा एक वार्ड के परिणाम पर रोक के कारण सीधी जिला पंचायत के चुनाव नहीं कराए जा सके। इसके पहले जनपद पंचायत के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष के चुनाव में भी भाजपा ऐसा ही प्रदर्शन कर चुकी है। नगर पालिका और नगर परिषद में भी भाजपा का ही बहुमत है। भोपाल, उज्जैन सहित अन्य कई जिलों में चुनाव के दौरान हंगामा भी हुआ।

दिग्विजय सिंह ने पकड़ी पुलिस अधिकारी की कालर, मुख्यमंत्री ने की निंदा

भोपाल में जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को लेकर जमकर हंगामा हुआ। यहां जीतने वालों में कांग्रेस समर्थित जिला पंचायत सदस्यों की संख्या अधिक मानी जा रही थी, लेकिन अध्यक्ष भाजपा समर्थित रामकुंवर नवरंग गुर्जर चुनी गईं। जब भाजपा नेता उन्हें चुनाव स्थल पर लेकर जाने लगे तो कांग्रेस के नेताओं ने इसका विरोध करते हुए पुलिस अधिकारियों के साथ झूमाझटकी की। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने एक पुलिस अधिकारी की कालर पकड़ ली। उन्होंने पुलिस और प्रशासन पर कांग्रेस समर्थित सदस्यों को धमकाने और बलपूर्वक मतदान कराने का आरोप लगाया।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिग्विजय सिंह के इस आचरण को अशोभनीय बताया। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री पुलिस अधिकारी की कालर पकड़ रहे हैं। कलेक्ट्रेट के गेट को धक्का देकर तोडऩे की कोशिश की जा रही है। लोकतंत्र में जय-पराजय चलती रहती है, लेकिन ऐसी बौखलाहट कि आप अधिकारी की कालर पकड़ें, यह अधिकार आपको किसने दिया। मुझे आश्चर्य है कि दस साल तक मुख्यमंत्री रहने वाला व्यक्ति ऐसी प्रतिक्रिया दे रहा है। यह तो कांग्रेस की बौखलाहट का प्रतीक है। जमीन खिसक गई तो अपशब्द कहने, कालर पकडऩे की मैं निंदा करता हूं। बड़वानी में मंत्री प्रेम सिंह पटेल के बेटे बलवंत पटेल चुनाव जीते हैं। उन्होंने भाजपा से बागी होकर चुनाव लड़ा था। पार्टी ने कविता आर्य को प्रत्याशी के रूप में समर्थन दिया था। परिणाम आने के बाद आर्य के समर्थकों ने मंत्री के विरुद्ध नारेबाजी की और भाजपा कार्यालय में हंगामा किया। उधर, शाम को पार्टी के खंडवा में मंत्री विजय शाह के पुत्र दिव्यदित्य शाह लाटरी के माध्यम से उपाध्यक्ष पद का चुनाव जीते।

4 views0 comments