41 आयुध कारखानों के कर्मचारी ने समारोह का किया बष्हिकार

आमला (आरएनएस)। आयुध कारखानों के निगमीकरण हुए एक वर्ष हो चुका है। इस मौके पर समारोह आयोजित किया गया था। जिसका 41 आयुध कारखानों के कर्मचारी ने समारोह का बहिष्कार कर दिया है। कर्मचारी अपनी मंागों को लेकर लंबे समय से संघर्ष कर रहे हैं। एयरफोर्स सिविलियन कर्मचारी संघ के महामंत्री सह जेसीएम सदस्य चन्द्रशेखर पुरी ने बताया कि आल इंडिया डिफेंस फेडरेशन के अध्यक्ष एसएन पाठक एवं महामंत्री सी श्रीकुमार ने कहा कि पूर्व के सभी आश्वासनों समझौतों का उल्लंघन करते हुए सरकार द्वारा सभी 41 आयुष कारखानों पर एकतरफा निर्णय करते हुए निगमीकरण कर दिया गया। जिसका एक वर्ष पूरा हो गया है। आयुध कारखानों के अवैधानिक कर्मचारी निगम के खिलाफ अपना संघर्ष जारी रखे हुए हैं। भारत सरकार द्वारा न्यायालय में कहा गया है कि जब तक सभी कर्मचारी निगमीकरण का विकल्प नहीं चुनते हैं वह केंद्र सरकार के कर्मचारी बने रहेंगे। निगमीकरण एक वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित कार्यक्रम को सभी 76 हजार कर्मचारियों ने काला बिल्ला लगाकर बहिष्कार किया। सभी ने निश्चय किया कि वे पुराने आर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड में ही रहेंगे। इस संबंध में रक्षा क्षेत्र के अन्य संगठन भी इनका पूर्ण सहयोग कर रहे हैं जैसे भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ, कन्फेडरेशन ऑफ सेन्ट्रल गवर्नमेंट एम्पलाइज सहित सेना, वायु सेना, नौसेना के सिवियिलन कर्मचारी संगठन शामिल हैं। सरकार अपने निर्णय को वापस नहीं लेती है तो आने वाले दिनों मेंं लड़ाई और तेज होगी व आंदोलन का रूप ले सकती है।


0 views0 comments