• dainik kshitij kiran

26 मई को होगा निर्वासित तिब्बती सरकार का शपथ समारोह

धर्मशाला । निर्वासित तिब्बती सरकार के लिए चुने गए नए प्रधानमंत्री और 45 संसद सदस्यों को 26 मई को शपथ दिलाई जाएगी। शपथ समारोह के लिए 26 मई का दिन इसलिए चुना गया है क्योंकि यह दिन दो शुभ बौद्ध अवसरों के साथ मेल खाता है। तिब्बती पंरपंरा के मुताबिक इस दिन सागा दावा की पूर्णिमा जिसे वैशाख और व्हाइट बुधवार का त्यौहार आ रहा है। उधर कोविड के बढ़ते मामलों के बीच शपथ समारोह का आयोजन ऑनलाइन करवाने ही विचार किया जा रहा है। निर्वासित तिब्बती सरकार के प्रधानमंत्री डा. लोबसांग सांग्ये ने कहा कि कोरोना महामारी अपने चरम पर है, ऐसे में नए प्रधानमंत्री और संसद सदस्यों के लिए 26 मई को आयोजित किया जाने वाला शपथ समारोह ऑनलाइन करवाने पर ही विचार किया जाएगा। गौरतलब है कि बीते दिन शनिवार को निर्वासित तिब्बती सरकार के प्रधानमंत्री और 45 संसद सदस्यों के चुनाव परिणाम घोषित किए गए हैं जिनमें पेंपा सेरिंग प्रधानमंत्री चुने गए हैं। उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी केलसंग दोरजे को हराकर प्रधानमंत्री पद की कुर्सी पर कब्जा किया है। कोरोना के चलते चुनाव परिणाम भी मुख्य चुनाव आयुक्त वांगदू सेरिंग ने ऑनलाइन प्रेस वार्ता के माध्यम से ही घोषित किया था।

0 views0 comments

Recent Posts

See All

डोनाल्ड ट्रंप ने हमेशा के लिए अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स बंद किए

वॉशिंगटन, । अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनियों के फेसबुक और ट्विटर द्वारा प्रतिबंधित किए जाने के बाद हमेशा के लिए अपने सोशल मीडिया अकाउंट को बंद कर दिया है। उ

डब्ल्यूएचओ ने कहा, भारत में मिला कप्पा नहीं, सिर्फ डेल्टा वैरिएंट ही खतरनाक

संयुक्त राष्ट्र, । कोविड-19 के बी.1.617 स्ट्रेन का डेल्टा यानी बी.1.617.2 वैरिएंट ही दुनिया के लिए चिंता का विषय है। यह तथ्य विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अध्ययन में सामने आया है। ज्ञातव्य है

छिन सकती है नेतन्याहू की कुर्सी, इजराइल में सरकार बनाने के लिये विरोधी विचारधारा के दल एकजुट हुए

यरुशलम । करीब दो हफ्ते पहले जब इजराइल देश में सबसे बुरे सांप्रदायिक तनाव से जूझ रहा था, गाजा से रॉकेटों की बौछार हो रही थी, तब कौन सोच सकता था कि वामपंथी, दक्षिणपंथी और मध्यमार्गी जैसी विरोधी विचारधार