18 साल की ऋचा घोष ने रचा इतिहास, वनडे में सबसे तेज अर्धशतक लगाने वाली भारतीय महिला खिलाड़ी बनीं


क्वीन्सटाउन, (आरएनएस)। 18 साल की विकेटकीपर बल्लेबाज ऋचा घोष ने मंगलवार को महिला एकदिवसीय क्रिकेट में किसी भारतीय बल्लेबाज द्वारा सबसे तेज अर्धशतक का रिकॉर्ड बनाया। घोष ने कमाल का प्रदर्शन किया। 29 बॉल में 52 रन की पारी खेली, जिसमें 4 चौके और 4 छक्के शामिल हैं।

ऋचा घोष ने न्यूजीलैंड के खिलाफ जॉन डेविस ओवल, क्वीन्सटाउन में चल रहे चौथे वनडे में यह उपलब्धि हासिल की। घोष ने सिर्फ 26 गेंदों में चार चौकों और चार छक्कों की मदद से अपना अर्धशतक पूरा किया। वह 52 रन की पारी खेलकर आउट हो गईं। भारतीय महिला टीम में सबसे तेज अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड रुमेली धर के नाम था।

2008 में श्रीलंका के खिलाफ 29 गेंद में फिफ्टी लगाई थी। वेदा कृष्णमूर्ति ने 2018 में 32 गेंद में जमाया था। एमेलिया केर के आलराउंड प्रदर्शन से न्यूजीलैंड ने बारिश से प्रभावित चौथे महिला एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में मंगलवार को यहां भारत को 63 रन से हराकर पांच मैचों की सीरीज में 4-0 से बढ़त बनाकर क्लीन स्वीप की तरफ कदम बढ़ाये।

बारिश के कारण मैच पांच घंटे देरी से शुरू हुआ जिससे इसे 20 ओवर का कर दिया गया। न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी के लिये आमंत्रित किये जाने के बाद एमेलिया केर के 33 गेंदों पर नाबाद 68 और सूजी बेट्स के 26 गेंदों पर 41 रन की मदद से 20 ओवर में पांच विकेट पर 191 रन का विशाल स्कोर बनाया। भारतीय टीम का शीर्ष क्रम बड़े स्कोर के सामने लडख़ड़ा गया। एक समय उसका स्कोर चार विकेट पर 19 रन था और आखिर में उसकी पूरी टीम 17.5 ओवर में 128 रन पर आउट हो गयी।

विकेटकीपर बल्लेबाज ऋचा घोष ने भारत की तरफ से सर्वाधिक 52 रन बनाये। एमेलिया ने गेंदबाजी में भी कमाल दिखाया और 30 रन देकर तीन विकेट लिये।

ऋचा को छोड़कर कोई भी अन्य भारतीय बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया जिससे भारत को इस दौरे में लगातार पांचवीं हार का सामना करना पड़ा। भारत वनडे श्रृंखला से पहले एकमात्र टी20 मैच भी हार गया था। भारतीय गेंदबाजों का प्रदर्शन हर अगले मैच में खराब रहा है और मंगलवार को उन्होंने सबसे बेकार खेल दिखाया। राजेश्वरी गायकवाड़ (चार ओवर में 26 रन देकर एक विकेट) को छोड़कर कोई भी अन्य भारतीय गेंदबाज प्रभावित नहीं कर पाया।

एमेलिया ने मेघना सिंह (चार ओवर में 45 रन देकर एक विकेट) और दीप्ति शर्मा (चार ओवर में 49 रन देकर एक विकेट) को विशेष तौर पर निशाने रखा। उन्होंने अपनी पारी में 11 चौके और एक छक्का लगाया। सोफी डिवाइन (24 गेंदों पर 32 रन) और बेट्स ने पहले विकेट के लिये 53 रन की साझेदारी की।

एक बार मंच सजने के बाद एमेलिया और एमी सैथरवेट (16 गेंदों पर 32 रन) ने उसका पूरा फायदा उठाया। भारत के लिये 192 रन का लक्ष्य हासिल करना मुश्किल था जबकि खराब फॉर्म में चल रही हरमनप्रीत कौर भी अंतिम एकादश में शामिल नहीं थी। स्मृति मंधाना (13) लंबे समय तक पृथकवास में रहने के कारण लय में नहीं दिखी जबकि शेफाली वर्मा और यास्तिका भाटिया खाता भी नहीं खोल पायी।पांचवें ओवर में भारत का स्कोर चार विकेट पर 19 रन हो गया जिससे मैच का परिणाम भी सुनिश्चित हो गया। ऋचा और कप्तान मिताली राज (28 गेंदों पर 30 रन) ने पांचवें विकेट के लिये 67 रन जोड़े लेकिन इससे हार का अंतर ही कम हुआ। ऋचा ने अपनी पारी में चार चौके और इतने ही छक्के लगाये। एमेलिया की बहन जेस ने भी दो विकेट लिये जबकि फ्रांसिस मैके ने दो और हेल जेन्सेन ने तीन विकेट लिये।


0 views0 comments