11 सितम्बर के बाद बारिश की अंतिम झड़ी, फिर मानसून लेगा विदाई


भोपाल,(आरएनएस)। प्रदेश में मानसून विदाई की बेला में है। 11 सितम्बर के बाद करीब पांच दिन प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में फिर से एक दौर तेज से मध्यम बारिश का चलेगा। एक सप्ताह तक लगने वाली यह झड़ी इस मानसून की अंतिम बारिश की झड़ी होगी। इसके बाद मानसून विदाई लेगा। इधर, रविवार को प्रदेश में फिर से मानसून ने जोर पकड़ लिया है। दक्षिण-पूर्वी मप्र से तमिलनाडु तक एक ट्रफ लाइन के बनने से दो दिन प्रदेश के कई हिस्सों में सामान्य से तेज बारिश होगी। भोपाल में बौछारें पड़ेंगी या हल्की बारिश होगी। मौसम केंद्र के अनुसार सोमवार तक करीब एक दर्जन जिलों में तेज बारिश होगी। मौसम विशेषज्ञ एके शुक्ला के अनुसार रविवार को एक्टिव हुआ सिस्टम ज्यादातर पूर्वी मप्र में दो दिन बारिश करेगा। इसके बाद बारिश कम हो जाएगी, लेकिन 11 सितम्बर को बंगाल की खाड़ी में एक लो प्रेशर एरिया बन रहा है, जो करीब पांच से छह दिन बारिश करेगा। 17 से 18 सितम्बर तक बारिश क म या मध्यम होगी। यह बारिश इस मानसून सीजन की अंतिम बारिश होगी। इसके बाद मानसून सितम्बर के अंतिम सप्ताह में विदाई लेगा। एक जून से चार सितम्बर तक भोपाल मं कुल 1699.1 मिमी बारिश हुई, जो नॉर्मल से 763.6 मिमी अधिक है। इसके अलावा 24 घंटे में दमोह में 88, नर्मदापुरम में 14, नरसिंहपुर में 49, सिवनी में 38, सागर में 25, भोपाल शहर में 7.3 मिमी सहित करीब डेढ़ दर्जन जिलों में बारिश दर्ज हुई है। रविवार तक प्रदेश में औसत बारिश 976.8 मिमी हुई है, जो औसत नॉर्मल से 20 मिमी अधिक है।


सामान्य तौर पर 816 मिमी बारिश हाना थी। प्रदेश में बारिश का विभाजन सही नहीं होने से बुंदेलखंड और बघेलखंड के अब भी कई जिलों के किसान बारिश की कमी से परेशान हैं।

0 views0 comments