नहर से कम दिया जा रहा पानी, किसानों को पलेवा के लिए हो रही परेशानी

पलेवा के तुरंत बाद करना है रबी मौसम की बोवनी सिंचाई विभाग कर रहा मनमानी


नर्मदापुरम। डोलरिया (निप्र)। जिले में खरीफ मौसम की फसल कटने के साथ ही खेत खाली होने पर किसानों के द्वारा पलेवा शुरू किया जा रहा है। जिनका पलेवा हो गया उन किसानों ने बोवनी शुरू भी कर दी है। जिले में इस बार 3 लाख 30 हजार हेक्टेयर में रबी की बोनी करने का प्लान बनाया गया है। जिन किसानों के पास सिंचाई सुविधा है वह अपने खेतों को बोवनी के लिए तैयार कर रहे हैं। जिन किसानों के खेत में नहर ही सुविधा नहीं है वे ट्यूबवेल के जरिए पलेवा करना चाहते हैं। लेकिन हालात यह हेै कि पर्याप्त बिजली नहीं मिलने से किसान पलेवा नहीं कर पा रहे हैं। जिससे उनके सामने बोनी की समस्या खड़ी होगी। दत्तपुरा के किसान भोजराज व ववलेश गौर ने बताया कि जिला प्रशासन को किसानों की वर्तमान में क्या समस्याएं आ रही हेैं उनसे संबंधित जानकारी दे चुके हैं। उसमें पर्याप्त पानी छोडऩे के साथ ही बिजली की समस्या के बारे में भी अवगत कराया है। किसानों का कहना है कि सिंचाई विभाग मनमानी कर रहा है।

कम छोडा़ जा रहा पानी

नहर से पानी छोडऩा तो समय पर शुरू हो गया है। लेकिन कम पानी छोड़े जाने से टेल क्षेत्र के किसानों को पानी की परेशाानी हो रही है। किसानों ने वरिष्ठ अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट किया उसके बाद भी नहर से कम पानी छोड़े जाने की समस्या बनी हुई है।

बिजली की नहीं हो रही पूर्ति

किसान नेताओं ने बताया क हमने अपनी तरफ से सभी वरिष्ठ अधिकारियों को बत चुके हैं। प्रशासन ने बिजली कंपनी के अधिकारियों का ध्यान इस ओर आकृष्ट नहीं कराया होगा इसी कारण बिजली की समस्या में सुधार होते नजर नहीं आ रहा है। उन्होने कहा कि प्रशासन को बिजली कंपनी को सब पता रहता है कि किसानों को किस समय क्या जरूरत पड़ती है। उसके बाद भी किसान संघ ज्ञापन के माध्यम से किसानों की समस्याओं के बारे में समय पर हर वर्ष अवगत करा देते हैं। जिससे कि किसानों को सही समय पर आवश्यकता की पूर्ति हो सके। लेकिन छोटी-छोटी समस्याओं का निराकरण नहीं हो पा रहा है। इस मौसम मेंं अब बिजली की समस्या सता रही है। उन्होने बिजली कपंनी के अधिकारियों से किसान हित में पूरे 10 घंटे ग्रामीण क्षेत्र में बिना कटौती किए बिजली उपलब्ध कराएं जिससे कि समय पर पलेवा हो सके। पलेवा के साथ बोवनी भी शुरू हो रही है।


2 views0 comments