चंडीगढ़ में बिजली संकट, सेना ने संभाला मोर्चा


चंडीगढ़, (आरएनएस)। केंद्रशासित प्रदेश चंडीगढ़ में बिजली कर्मियों की हड़ताल से मचे हाहाकार के बाद बुधवार को सेना ने मोर्चा संभाल लिया। सेना की इंजीनियरिंग सर्विस टीमें तेजी के साथ बिजली आपूर्ति बहाल करने में जुटी हैं। बिजली संकट की वजह से शहरवासियों को भारी संकट का सामना करना पड़ रहा था। पीजीआई चंडीगढ़, सेक्टर-32 तथा सेक्टर 16 अस्पतालों में स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह से प्रभावित हुईं। बुधवार को कुछ इमरजेंसी आपरेशन भी नहीं हुए। मंगलवार देररात कर्मचारी नेता सुभाष लांबा और अन्य की गिरफ्तारी से स्थिति गंभीर हुई। कई दौर की बैठकों के बाद जब बात नहीं बनी तो चंडीगढ़ प्रशासन ने हरियाणा और पंजाब से सहयोग मांगा। लेकिन दोनों राज्यों के कर्मचारियों ने चंडीगढ़ में जाने से इनकार कर दिया। इस बीच चंडीगढ़ के विद्युत विभाग के चीफ इंजीनियर आज सुबह पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में पेश हुए। उन्होंने स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने के लिए हाई कोर्ट से दोपहर ढाई बजे तक का समय मांगा। इस बीच चंडीगढ़ प्रशासन ने सेना की इंजीनियरिंग सर्विस से संपर्क किया। सेना की टीमों ने दोपहर दो बजे चंडीगढ़ पहुंचकर बिजली आपूर्ति सुचारू करनी शुरू कर दी। इस दौरान चीफ इंजीनियर ने हाई कोर्ट में पेश होकर बुधवार शाम तक बिजली और पानी आपूर्ति सुचारू किए जाने का दावा किया।



1 view0 comments