खाली स्टेडियम में खेलने से वेस्टइंडीज को फायदा मिलेगा:फिल सिमन्स


मैनचेस्टर । वेस्टइंडीज के कोच फिल सिमन्स का मानना है कि कोविड-19 महामारी के चलते अगले महीने जब जैव सुरक्षित (बायो-सेफ) वातावरण में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी होगी तो उनकी टीम इंग्लैंड के खिलाफ खाली स्टेडियमों में खेलने से थोड़ा फायदे में रहेगी। इस वायरस के कारण अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मार्च से ही ठप पड़ा है।

वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के बीच आठ जुलाई से साउथैम्पटन में शुरू होने वाली तीन टेस्ट मैचों की सीरीज से इसकी वापसी होगी। सिमन्स से यहां टीम के अभ्यास स्थल से वीडियो कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘मैं नहीं जानता कि इससे हमारी जीत की संभावना बढ़ेगी, क्योंकि दोनों टीमें एक जैसे माहौल में खेलेंगी।

उन्होंने कहा, ‘हमारे लिए अच्छी बात है कि इंग्लैंड की टीम को दर्शकों का समर्थन नहीं मिलेगा। इस तरह से इससे हमें मदद मिले। इस तरह से सोचा जाए तो यह अच्छा है।’

सिमन्स का मानना है कि अपने समर्थकों की कमी के अलावा इंग्लैंड को लंबे समय तक प्रतिस्पर्धी क्रिकेट से दूर रहने का भी खामियाजा भी भुगतना पड़ सकता है। उन्होंने कहा, ‘इंग्लैंड ने हाल में कोई दौरा नहीं किया जबकि हम स्वदेश में क्रिकेट खेल रहे थे। यह हमारे लिए अच्छी बात है।’

वेस्टइंडीज ने 18 महीने पहले अपनी सरजमीं पर इंग्लैंड को 2-1 से हराया था और अगर वह तीन टेस्ट मैचों की सीरीज को बराबर करने में भी सफल रहता है तो विजडन ट्रोफी उसी के पास रहेगी। सिमन्स ने हालांकि स्वीकार किया कि उनकी टीम को शिमरोन हेटमेयर, डैरेन ब्रावो और कीमो पॉल की कमी खलेगी जिन्होंने महामारी के कारण ब्रिटेन का दौरा करने से इंकार कर दिया था।

कोच सिमन्स ने कहा, ‘हम जानते हैं कि हमें किसकी कमी खलेगी लेकिन इस तरह की स्थिति में हमें मौजूद खिलाडिय़ों के साथ कड़ी मेहनत करनी होगी और यह सुनिश्चित करना होगा कि वह उन खिलाडिय़ों की कमी नहीं खलने दें।’

००

0 views0 comments