• dainik kshitij kiran

कोरोना को लेकर देशवासी जऱा भी कोताही ना बरतें: मोदी


नईदिल्ली । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में कोविड-19 महामारी के तेजी से विस्तार के बीच देशवासियों को रविवार को आगाह किया कि कोरोना का खतरा पहले से कम नहीं हुआ है लिहाजा लोगों को बहुत संयम एवं धैर्य के साथ लगातार मास्क पहनना चाहिए और जऱा भी कोताही नहीं बरतनी चाहिए।

मोदी ने आकाशावाणी पर प्रसारित अपने कार्यक्रम मन की बात में कहा कि पिछले कुछ महीनों से पूरे देश ने एकजुट होकर जिस तरह कोरोना से मुकाबला किया है, उसने अनेक आशंकाओं को गलत साबित कर दिया है। आज, हमारे देश में स्वस्थ होने की दर अन्य देशों के मुकाबले बेहतर है, साथ ही, हमारे देश में कोरोना से मृत्यु-दर भी दुनिया के ज्यादातर देशों से काफ़ी कम है। उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से एक भी व्यक्ति को खोना दुखद है, लेकिन भारत अपने लाखों देशवासियों का जीवन बचाने में सफल भी रहा है।

प्रधानमंत्री ने लोगों को चेताया, कोरोना का खतरा टला नहीं है। कई स्थानों पर यह तेजी से फैल रहा है। हमें बहुत ही ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। हमें यह ध्यान रखना है कि कोरोना अब भी उतना ही घातक है, जितना, शुरू में था, इसीलिए हमें पूरी सावधानी बरतनी है। चेहरे पर मास्क लगाना या गमछे का उपयोग करना, दो गज की दूरी, लगातार हाथ धोना, कहीं पर भी थूकना नहीं, साफ़ सफाई का पूरा ध्यान रखना - यही हमारे हथियार हैं जो हमें कोरोना से बचा सकते हैं। उन्होंने कहा कि कभी-कभी हमें मास्क से तकलीफ होती है और मन करता है कि चेहरे पर से मास्क हटा दें। बातचीत करना शुरू करते हैं, जब मास्क की जरूरत ज्यादा होती है, उसी समय मास्क हटा देते हैं।

उन्होंने कहा, ऐसे समय, मैं, आप से आग्रह करूँगा जब भी आपको मास्क के कारण परेशानी होती हो, मन करता हो उतार देना है, तो, पल-भर के लिए उन डाक्टरों, नर्सों एवं उन कोरोना वारियर्स का स्मरण कीजिये, वो मास्क पहनकर के घंटो तक लगातार, हम सबके जीवन को, बचाने के लिए जुटे रहते हैं। आठ-आठ, दस-दस घंटे तक मास्क पहने रखते हैं। क्या उनको तकलीफ नहीं होती होगी! थोड़ा सा उनका स्मरण कीजिये, आपको भी लगेगा कि हमें एक नागरिक के नाते इसमें जरा भी कोताही ना बरतनी है और न किसी को बरतने देनी है। उन्होंने कहा कि एक तरफ हमें कोरोना के खिलाफ लड़ाई को पूरी सजगता और सतर्कता के साथ लडऩा है, तो दूसरी ओर, कठोर मेहनत से, व्यवसाय, नौकरी, पढाई, जो भी, कर्तव्य हम निभाते हैं, उसमें गति लानी है, उसको भी नई ऊँचाई पर ले जाना है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस समय बारिश का मौसम भी है। बरसात में गन्दगी और उनसे होने वाली बीमारी का खतरा बढ़ जाता है, अस्पतालों में भीड़ भी बढ़ जाती है इसलिए लोग साफ़-सफ़ाई पर बहुत ज्यादा ध्यान दें। प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली चीजें, आयुर्वेदिक काढ़ा वगैरह लेते रहें। कोरोना संक्रमण के समय में हम अन्य बीमारियों से दूर रहें। हमें अस्पताल के चक्कर न लगाने पड़े, इसका पूरा ख्याल रखना होगा। मोदी ने कोरोना संकट से निपटने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में उल्लेखनीय कार्य करने वाले लोगों का जिक्र किया। जम्मू की त्रेवा ग्राम पंचायत की सरपंच बलबीर कौर, गांदरबल की चौंटलीवार की जैतूना बेगम और अनंतनाग के नगरपालिका के अध्यक्ष मोहम्मद इकबाल के योगदान को देशवासियों के साथ साझा किया।

0 views0 comments

Recent Posts

See All

कांग्रेस का हाथ थामते ही आप पर बरसे खैहरा, केजरीवाल को बताया तानाशाह

नई दिल्ली, । पंजाब के सियासी गलियारों में बीते कई दिनों से चल रही अटकलों पर आखिरकार विराम लगाते हुए आम आदमी पार्टी (आप) के बागी नेता सुखपाल सिंह खैहरा ने गुरुवार को अपने दो विधायकों के साथ कांग्रेस का

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की शिवराज सरकार की तैयारी केवल कागजी दावा : कमलनाथ

भोपाल । मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि दूसरी लहर की भयावहता को देखने के बाद भी कोरोना की तीसरी लहर को लेकर प्रदेश सरक

12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के माता-पिता और विदेश जाने वाले विद्यार्थियों को टीकाकरण में प्राथमिकत

होशंगाबाद। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हमने कोरोना की दूसरी लहर पर नियंत्रण प्राप्त कर लिया है। तीसरी लहर की आशंका जताई जा रही है। तीसरी लहर का मुकाबला करने की तैयारी प्रारंभ कर दी गई ह