कोरोना को मात देने के बाद संसद की कार्यवाही में भाग लेंगे शाह



नईदिल्ली । केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह लोकसभा में सभा पटल पर पत्र रखेंगे और विदेशी अभिदाय (विनियमन) संशोधन विधेयक, 2020 सहित दो अन्य विधेयक सदन में पेश करेंगे। निचले सदन की पुनरीक्षित कार्य सूची में इसका खुलासा किया गया। कोरोनोवायरस या कोविड-19 महामारी को मात देने के बाद संसद के मानसून सत्र के दौरान यह उनकी पहली उपस्थिति होगी। पिछले महीने वह कोरोना से संक्रमित हो गए थे।

मंत्री के सदन की कार्यवाही में शामिल होने की उम्मीद है जब अपराह्न 3 बजे इसकी कार्यवाही शुरू होगी। वह अपने दो कनिष्ठ मंत्रियों— नित्यानंद राय और जी किशन रेड्डी के साथ उपस्थित होंगे। निचले सदन की कार्यसूची में इसका जिक्र किया गया है।

सदन की कामकाज की सूची के अनुसार, अमित शाह गृह मंत्रालय के लिए सभा पटल पर पत्र रखेंगे और फिर वह विदेशी अभिदाय (विनियमन) संशोधन विधेयक, 2020 को प्रस्तावित करेंगे जो विदेशी अभिदाय (विनियमन) अधिनियम, 2010 में संशोधन की मांग करता है।

शाह नेशनल फोरेंसिक साइंसेज यूनिवर्सिटी बिल, 2020 को भी सदन में विचार और पारित कराने के लिए प्रस्तावित करेंगे। यह राष्ट्रीय विधि विज्ञान विश्वविद्यालय के नाम से ज्ञात एक संस्था को अध्ययन और अनुसंधान के मामले में राष्ट्रीय महत्व का संस्थान बनाने और संवर्धन करने के बारे में है।

गृह मंत्री राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय विधेयक, 2020 को भी प्रस्तावित करेंगे। यह राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय के रूप में ज्ञात संस्था को राष्ट्रीय महत्व की संस्था के रूप में घोषित करने और उसके निगमन के बारे में है।

शाह के शनिवार को सदन की कार्यवाही में हिस्सा लेने की उम्मीद थी, हालांकि किसी कारणवश कार्यवाही में शामिल नहीं हुए।

0 views0 comments