• dainik kshitij kiran

कांग्रेस में चल रही खींचतान पर पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने जताया दुख

कहा- पिछले आठ महीने में जो स्थिति बनी उससे बहुत आहत हूं



भोपाल । मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव ने मध्यप्रदेश में पार्टी की सरकार बनने के बाद जो हालात बने हैं, उस पर दुख जताया है। उन्होंने मंगलवार को सोशल मीडिया पर अपना दुख व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा है कि मध्यप्रदेश कांग्रेस में पिछले आठ महीनों में जो हुआ, उससे मैं बहुत आहत हूं। मध्यप्रदेश में इन दिनों प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर जमकर गुटबाजी चल रही है। कई दावेदार सामने आ रहे हैं तो पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनवाने के लिए उनके समर्थकों ने पार्टी हाईकमान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और अपने पदों से इस्तीफा देने और आंदोलन करने की चेतावनी दे रही हैं। वहीं वन मंत्री उमंग सिघार ने बीते रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर आरोप लगाया था कि वे पर्दे के पीछे से सरकार चला रहे हैं, यहां तक की मुख्यमंत्री कमलनाथ के कामकाज में भी हस्तक्षेप करते हैं। इस संबंध में उन्होंने सोमवार को पार्टी की अंतरिम राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को चि_ी भी लिखी है। मंगलवार को वन मंत्री सिघार ने दिग्विजय सिंह के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए उन पर अवैध रेत खनन में संलिप्त होने के आरोप तक लगा दिये। कांग्रेस पार्टी में चल रही इस उठापटक को लेकर पूर्व पार्टी प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव ने ट्वीटर के माध्यम से दुख व्यक्त किया है। उन्होंने मंगलवार को ट्वीट करते हुए कहा है कि 'मप्र में 15 सालों तक ईमानदार पार्टीजनों के साथ किये गए संघर्ष के बाद 8 महीनों में जो स्थितियां सामने आ रही हैं, उसे देखते हुए बहुत व्यथित हूं। यदि इतनी जल्दी इन दिनों का आभास पहले ही हो जाता तो शायद जान हथेली पर रखकर जहरीली और भ्रष्ट विचारधारा के खिलाफ लड़ाई नहीं लड़ता, बहुत आहत हूं। उन्होंने ट्वीटर पर पार्टी के लिए किये गए अपने संघर्ष की तस्वीरें भी शेयर की हैं। उल्लेखनीय है कि अरुण यादव प्रदेश के पूर्व उप मुख्यमंत्री और किसान नेता सुभाष यादव के पुत्र हैं। पिछले साल मध्यप्रदेश में हुए विधानसभा चुनावों से पहले वे कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष थे, लेकिन चुनाव से छह महीने पहले पार्टी हाईकमान ने उन्हें प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाकर कमलनाथ को प्रदेश की कमान सौंप दी थी। इसके बाद पार्टी ने कमलनाथ के नेतृत्व में विधानसभा चुनाव लड़ा और प्रदेश में सरकार बनाने में कांग्रेस सफल रही, लेकिन सरकार बनने के बाद पार्टी में फिर से गुटबाजी हावी हो गई और वरिष्ठ नेता एक-दूसरे की टांग खींचने में लगे हुए हैं।

0 views0 comments

Recent Posts

See All

कांग्रेस का हाथ थामते ही आप पर बरसे खैहरा, केजरीवाल को बताया तानाशाह

नई दिल्ली, । पंजाब के सियासी गलियारों में बीते कई दिनों से चल रही अटकलों पर आखिरकार विराम लगाते हुए आम आदमी पार्टी (आप) के बागी नेता सुखपाल सिंह खैहरा ने गुरुवार को अपने दो विधायकों के साथ कांग्रेस का

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की शिवराज सरकार की तैयारी केवल कागजी दावा : कमलनाथ

भोपाल । मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि दूसरी लहर की भयावहता को देखने के बाद भी कोरोना की तीसरी लहर को लेकर प्रदेश सरक

12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के माता-पिता और विदेश जाने वाले विद्यार्थियों को टीकाकरण में प्राथमिकत

होशंगाबाद। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हमने कोरोना की दूसरी लहर पर नियंत्रण प्राप्त कर लिया है। तीसरी लहर की आशंका जताई जा रही है। तीसरी लहर का मुकाबला करने की तैयारी प्रारंभ कर दी गई ह