कांग्रेस पार्टी में मिलता है कार्यकर्ताओं को पूरा मान-सम्मान-ब्लाक अध्यक्ष देवनारायण वर्मा


सीहोर/जावर। कांग्रेस पार्टी ऐसी पार्टी है, जिसमें आम कार्यकर्ताओं को पूरा मान सम्मान दिया जाता है और वह स्वयं इसका उदाहरण है क्योंकि उन्होंने एक छोटे कार्यकर्ता के रूप में अपनी राजनैतिक जीवन की शुरुआत की और मेहनत व पार्टी निष्ठा के बल पर आज वह आज जावर ब्लाक अध्यक्ष पद पर विराजमान है। उक्त विचार नव नियुक्त मध्यप्रदेश कांग्रेस पिछड़ा वर्ग के ब्लाक अध्यक्ष देवनारायण वर्मा छोटे ने प्रकट किए। गुरुवार को एक सादगी पूर्ण कार्यक्रम के दौरान मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी पिछड़ा वर्ग के जिलाध्यक्ष राजेश भूरा यादव ने श्री वर्मा को जावर ब्लाक अध्यक्ष पद पर कांग्रेस के ब्लाक अध्यक्ष कमल पहलवान की अनुशंसा पर नियुक्त किया है। इस मौके पर श्री वर्मा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी की नीति और सिद्धांत सबसे अच्छा है। पार्टी जाति और धर्म से ऊपर उठकर देशवासियों के हित में सदा सोचती है। वर्तमान में देश में मोदी और प्रदेश में शिवराज सिंह सरकार ने देश और प्रदेश को बर्बाद कर दिया है। इस मौके पर शहर कांग्रेस सीहोर ब्लाक के अध्यक्ष ओम वर्मा, पिछडा वर्ग के प्रदेश महामंत्री प्रीतम दयाल चौरसिया और जिले के महामंत्री हरीश आर्य ने भी कार्यक्रम में शामिल कांग्रेसजनों और क्षेत्रवासियों को संबोधित किया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से दशरथ सिंह मुरावर, शंकर सिंह पटेल, रतन सिंह पटेल मेहतवाड़ा, हरि नारायण, विक्रम सिंह, धूल सिंह वर्मा, राजेन्द्र कुरावर, नारायण चेयरमैन, सीताराम भाई जी, राम सिंह, देवकरण नाकेदार ठाकुर, रंजीत सिंह मालवीय, गणपत सिंह मालवीय, मोती सिंह, देव जी मालवीय, राधेश्याम बैरागी, चंदर सिंह, गगन सिंह पटेल, अनिल वर्मा, सचिन वर्मा, रमेश मुकाती, बाबूलाल कुरावर, दर्शन सिंह, जितेन्द्र बैरागी, सुरेशा चौरसिया, अशोक चौरसिया, राजेन्द्र भरेवा जावर, विक्रम सिंह पटेल, मोहर सिंह, गजराज सिंह, रमेश कक्कु और शैलेन्द्र कल्याण आदि बड़ी संख्या में क्षेत्रवासी शामिल थे।

गलवान में शहीदों को श्रद्धांजली अर्पित

इस मौके पर मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी पिछड़ा वर्ग के जिलध्यक्ष राजेश भूरा यादव और नव नियुक्त जावर ब्लाक के अध्यक्ष देव नारायण वर्मा के नेतृत्व में एक शोक सभा का आयोजन किया गया। जिसमें गलवान में शहीद होने वाले भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजली अर्पित की है। लद्दाख़ के गलवान में मातृभूमि की रक्षा के दौरान अपने बहादुर सैनिकों को खोने के दर्द को शब्दों में व्यक्त नहीं किया जा सकता। भारत भूमि को सुरक्षित रखने के लिए अपने प्राणों की आहूति देने वाले अमर वीरों को राष्ट्र नमन करता है। उनका अदम्य साहस और वीरता अपनी भूमि के प्रति भारत की प्रतिबद्धता को दर्शाती है।


0 views0 comments