केंद्रीय जांच एजेंसी अब शिक्षा मंत्री को भी कर सकती है गिरफ्तार: अरविंद केजरीवाल


नई दिल्ली,,(आरएनएस)। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को वर्चुअल प्रेस वार्ता कर केंद्रीय जांच एजेंसी पर बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि कुछ महीने पहले ही बता दिया था कि केंद्र सरकार की जांच एजेंसी सत्येंद्र जैन को गिरफ्तार करने वाली है।

उन्होंने कहा कि अब विश्वस्त सूत्रों से जानकारी मिली है कि केंद्र सरकार की जांच एजेंसी उपमुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार करने वाली है। जैसे केंद्रीय जांच एजेंसी ने सतेंद्र जैन के खिलाफ फर्जी केस तैयार किया है ठीक उसी तरीके से मनीष सिसोदिया के खिलाफ फर्जी केस बनाया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि मनीष सिसोदिया ने भारत की शिक्षा क्रांति में बहुत काम किया है। सरकारी स्कूलों में गरीब बच्चों को पहले थर्ड क्लास शिक्षा मिलती थी। पहले इन सभी बच्चों का भविष्य अंधकार में था। मनीष सिसोदिया ने इन बच्चों के भविष्य को संवारा है।

वहीं, 18 लाख बच्चों से मुख्यमंत्री ने प्रश्न करते हुए कहा कि क्या वह भ्रष्ट है उनके माता-पिता से भी सवाल किया कि यह लोग शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया को भ्रष्ट कह रहे हैं आपको क्या लगता है।

मनीष सिसोदिया ने न केवल दिल्ली बल्कि पूरे देश के गरीब बच्चों को बेहतर शिक्षा देने की दिशा दिखाई है। दिल्ली के शिक्षा के क्रांति में केवल दिल्ली ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में बात हो रही है। हर जगह हैप्पीनेस क्लास और एंटरप्रेन्योरशिप क्लास की चर्चा हो रही है। मनीष सिसोदिया ने पूरे दुनिया में भारत का नाम रोशन किया है।

सत्येंद्र जैन और मनीष सिसोदिया को फर्जी मामले में फंसाना गलत है। मनीष सिसोदिया और सतेंद्र जैन जैसे लोगों को जेल में डालने से केवल देश का नुकसान होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हाथ जोड़कर निवेदन कर रहे है कि एक-एक करके जेल में डालने की जगह एक साथ सभी को जेल में डाल दें।इस तरीके से लोगों को जेल में डालने से काम में बाधा होती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सतेंद्र जैन कई नए प्रोजेक्ट पर काम कर रहे थे। यमुना की सफाई का काम कर रहे थे अब उन प्रोजेक्ट में समस्या आएगी।आगे मुख्यमंत्री ने कहा कि ईडी की जांच से पहले सीबीआई और इनकम टैक्स ने की है उन्हें कुछ नहीं मिला है, क्योंकि केस फर्जी है उसी केस की दोबारा जांच प्रवर्तन निदेशालय कर रही है। एक ही चीज को अलग-अलग एजेंसी जांच करती रहेगी तो काम में बाधा आयेगी।

उन्होंने कहा कि हमारे 20 से ज्यादा विधायकों को गिरफ्तार किया गया सब छूट कर प्रधानमंत्री से ईमानदारी का सर्टिफिकेट लेकर आए हैं। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील किया कि हम सभी को एक साथ गिरफ्तार कर लें और उसके बाद सबको ईमानदारी का सर्टिफिकेट मिलेगा।

0 views0 comments