कारम डैम निर्माण में हुए भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस ने मुख्यमंत्री से पूछे सात सवाल


भोपाल (निप्र)। मध्य प्रदेश के धार जिले में कारम नदी पर निर्मित डैम लिकेज मामले पर राजनीति घमासान जारी है। कांग्रेस लगातार हमलावर होते हुए सरकार पर निशाना साध रही है। प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कारम डैम को लेकर सात सवाल पूछे हैं। उन्होंने कहा है कि भ्रष्टाचारियों को लेकर सुशासन का मतलब समझाने और उन्हें 10 फुट गड्ढे में गाड़ देने का आह्वान करने वाले मुख्यमंत्री इस पूरे मामले से जुड़े राजनेताओं, नौकरशाहों और सत्ताधीशों के खिलाफ क्या कार्यवाही करेंगे। केके मिश्रा ने शुक्रवार को सरकार पर भ्रष्टाचारियों को संरक्षित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में पिछले 15 वर्षों में निर्मित बांध, सडक़ों, पुल-पुलियाओं और स्टाप डेमों के अरबों रुपये के निर्माण ध्वस्त हो जाने के सामने आए। सभी मामलों में अब तक जांच की रस्म अदायगी के रूप में किन-किन भ्रष्टों को चिन्हित किया गया, उनके विरुद्ध कितनी एफआईआर दर्ज की गई? 10 फीट गड्ढे में गाडऩा तो दूर उन्हें संरक्षित क्यों किया गया?

उन्होंने कहा कि पिछले माह में एमपीआरडीसी जिसके अध्यक्ष स्वयं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हैं, द्वारा निर्मित मंडीदीप के कलियासोत में 529 करोड़ का ब्रिज अपने निर्माण के एक ही साल बाद ध्वस्त कैसे हो गया? क्या मुख्यमंत्री इसकी नैतिक जिम्मेदारी स्वीकार करेंगे? इसी प्रकार कारम बांध में हुए बड़े भ्रष्टाचार को लेकर वे दोषियों को सार्वजनिक करने की अपेक्षा उनके बचाव में क्यों उठ खड़े हुए हैं?

0 views0 comments