कांग्रेस का आरोप, वोटों की राजनैतिक फसल काटने के लिए भाजपा करना चाहती है साम्प्रदायिक दंगे

भोपाल, (ए)। पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण यादव, कांग्रेस विधायक पी. सी. शर्मा और मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री मीडिया प्रभारी के. के. मिश्रा ने बुधवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में संयुक्त 'पत्रकार-वार्ताÓको संबोधित किया। इस दौरान कांग्रेस ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा और गंभीर आरोप लगाए।कांग्रेस नेता अरुण यादव ने कहा कि कांग्रेस बार- बार यही आरोप लगाती आई है कि देश-प्रदेश में जहां-जहां भी साम्प्रदायिक तनाव- दंगे हुए हैं, वहां भाजपा और इससे जुड़े संगठन के चेहरे ही बेनकाब हुए हैं, क्योंकि धर्म, छद्म हिंदुत्व, गौमाता और साम्प्रदायिकता ही इस विचारधारा के लिए राजनैतिक फसल काटने व सत्ता निर्माण का माध्यम बन चुकी है। उन्होंने कहा कि मप्र में भी चूंकि अगले वर्ष विधानसभा के चुनाव हैं, पिछले 15 वर्षीय शिवराज सरकार के शासनकाल में प्रगति, विकास, गरीबी, बेरोजगारी, मज़दूर, किसानों, नौजवानों व विभिन्न वर्गों के उत्थान को लेकर शिवराज सरकार सिवाय विभिन्न योजनाओं में भ्रष्टाचार तथा झूठी घोषणाओं के अलावा कुछ भी नहीं कर पाई है। लिहाजा, इस लक्ष्य प्राप्ति हेतु तनाव फैलाना, दंगे करवाना ही उसकी निगाह में अब प्रगति और विकास के दूसरे नाम व काम में तब्दील हो गए हैं। अरुण यादव ने कहा कि खरगोन के बाद बुरहानपुर में दो दिन पहले मालीवाडा स्थित हनुमान मंदिर में मूर्ति से छेड़छाड़ करने की घटना सामने आई है। सीसीटीवी कैमरों की जांच में भाजपा से जुड़े नेता का नाम सामने आया है पर अभी तक सरकार द्वारा कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव में कहा कि भाजपा सरकार का बुलडोजर पक्षपातपूर्ण तरीके से चलाया जा रहा है। उन्होंने ने कहा कि मुख्यमंत्री ने कल सम्पन्न भगवान परशुराम की जयंती पर कहा कि परशुराम का फरसा दुष्टों के लिए था, हमारा फरसा भी दुष्टों के खिलाफ चलेगा। क्या बुरहानपुर की घटना का आरोपी आपकी निगाह में दुष्ट है या राष्ट्रवादी? स्पष्ट किया जाए। उन्होंने सरकार से मांग की है कि समाज विरोधी घटनाएं चाहे किसी भी धर्म, समुदाय और राजनीतिक दल से जुड़े व्यक्ति द्वारा क्यों न की जाए उसके विरुद्ध निष्पक्षता के साथ कार्रवाई होनी चाहिए।

0 views0 comments