कलेक्टर ने किसानों प्रतिनिधियों की बैठककर, सुनीं किसानों की समस्यायें

जबलपुर / कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने आज जिले के सभी विकासखण्ड के किसान प्रतिनिधियों की बैठक कर उनके मुख्य समस्याओं को जाना तथा समाधान के उपाय बताये। किसानों द्वारा मुख्य रूप से कहा गया कि एक जिला एक उत्पाद के तहत जबलपुर में चयनित मटर उत्पादन, बीज उत्पादन, किसानों की ट्रेनिंग, खाद्य की समस्या, नकली खाद्य की छापेमारी, रबी उपार्जन के लिये स्टॉल बुकिंग व इसके लिये जागरूकता, सहजपुर मंडी मे एप्रोच रोड आदि पर त्वरित कार्यवाही हो। किसानों ने कहा कि एक जिला एक उत्पाद के तहत जबलपुर में मटर का चयन किया गया हैं। अत: इसके उत्पादन, गुणवत्ता, प्रोसेसिंग, ब्रांडिंग व मार्केटिंक की दिशा में समुचित उपाय करने के साथ मटर के उन्नत किस्म के बीज किसानों को समय पर मिल जाये। कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा ने कहा कि बीज उत्पादन के लिये कृषि विश्वविद्यालय से तकनीक के साथ ट्रेनिंग की जायेगी। साथ ही मटर के उन्नत किस्म के बीज किसानों को समय पर मिल जाये इस पर भी सकारात्मक कदम उठाये जायेंगे। सहजपुर मंडी एप्रोच रोड के सकारात्मक समाधान करने के साथ नकली खाद्य विक्रेताओं पर छापामारी कार्यवाही करने व खाद्य की समस्या पर कहा कि खाद्य की उपलब्धता है। इसके वितरण व्यवस्था के संबंध में अधिकारियों से चर्चा की जायेगी कि समस्या क्या है। रबी उपार्जन के संबंध में कहा गया कि इस बार एसएमएस की जगह किसानों को अपनी उपज के विक्रय के लिये स्लॉट बुकिंग की व्यवस्था की गई है। स्लॉट की बुकिंग कैसे की जायेगी इसके लिये संबंधित अधिकारियों से कहा कि वे ऑडियो वीडियों व पम्पलेट के माध्यम से करें। उन्होंने कहा कि राज्य शासन द्वारा रबी विपणन वर्ष 2022-23 कृषकों को समर्थन मूल्य पर गेंहू विक्रय करने के लिए एसएमएस के इन्तजार को समाप्त करते हए कृषक द्वारा उपज विक्रय करने के लिए उपार्जन केन्द्र का चयन एवं उपज विक्रय की दिनांक स्वयं ई-उपार्जन पोर्टल पर कर सकेंगे, इस व्यवस्था अनुसार प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर गेहूं की तौल क्षमता का निर्धारण पोर्टल पर किया जाएगा, जिसके अनुसार प्रति तौलकांटा प्रतिदिन 250 क्विंटल के मान से गणना की गई है। ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत-सत्यापित कृषक द्वारा स्वयं के मोबाइल-एमपी ऑनलाईन-सीएससी-ग्राम पंचायत-लोक सेवा केन्द्र-इन्टर नेट कैफे-उपार्जन केन्द्र से स्लॉट बुकिंग की जा सकेगी। स्लॉट बुकिंग हेतु कृषक के ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत मोबाइल पर ओटीपी प्रेषित किया जाएगा, जिसे पोर्टल पर दर्ज करना होगा। कृषकों को अपनी उपज विक्रय करने हेतु स्लॉट बुकिंग दो पारी में (प्रात: 9 से 1 बजे एवं अपरान्ह 2 से 6 बजे) की जा सकेगी. जिसमें से एक पारी का चयन किया जा सकेगा। उपार्जन का कार्य सोमवार से शुक्रवार तक किया जाएगा एवं उपज विक्रय हेतु इसी अवधि की स्लॉट बुकिंग की जा सकेगी। इसके साथ ही किसानों के अन्य समस्याओं का भी समुचित समाधान किया गया।


0 views0 comments

Recent Posts

See All

विजेताओं में जबलपुर सहित मध्यप्रदेश के चार शहर जबलपुर/ केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने ईट-स्मार्ट सिटीज चैलेंज के विजेताओं की घोषणा कर दी है। इसमें ११ शहरों को विजेता घोषित किया गया है। गौ