• dainik kshitij kiran

करीना से ब्रेकअप के बाद शाहिद ने कहा था-अब मैं एक अच्छा प्रेमी नहीं बन पाऊंगा


इस बात में कोई दोराय नहीं कि बॉलीवुड गलियारे में ऐसे कई कपल्स हैं, जो अपने परफेक्ट रिलेशनशिप के लिए जाने जाते हैं। इस बात को भी नकारा नहीं जा सकता कि बी-टाउन में नए-नए रिश्तों का बनना और उनका साल दो साल में बिगडऩा भी अब एक आम सी बात हो गई है। हालांकि, इनमें कुछ रिश्ते ऐसे भी होते हैं, जिनके टूटने का गम हर किसी को होता है। ऐसा ही एक एक रिश्ता करीना कपूर खान और शाहिद कपूर के बीच भी था, जिनके टूटे हुए रिलेशन के किस्से आज भी याद किए जाते हैं।

शाहिद कपूर और करीना कपूर का रिश्ता किसी से छिपा नहीं है, दोनों ने एक-दूसरे से खुलकर प्यार भी किया और जब रिश्ता टूटा तो उसकी खनक दूर तक सुनाई दी। हालांकि, बेबो के साथ ब्रेकअप के बाद जब अलग-अलग मौकों पर शाहिद कपूर से उनके टूटे हुए दिल का हाल पूछा तो उन्होंने जवाब दिया, मैं अपने आप को एक अच्छा बॉयफ्रेंड होने का दोष देता हूं। मैं साढ़े चार साल पुराने रिश्ते में था और बहुत कमिटेड था। खैर, मैंने उस रिश्ते से बहुत कुछ सीखा है और इसके साथ ही मैं कह सकता हूं कि अब मैं कभी एक अच्छा प्रेमी नहीं बन पाऊंगा।

खैर, ये तो रही शाहिद-करीना की बात लेकिन कभी आपने सोचा है कि क्यों बुरी तरह से दिल टूटने के बाद लड़के दोबारा रिलेशन में नहीं आते.... मेरी बेटी की जिद है कि वह लव मैरेज ही करेगी, उसे अरेंज्ड मैरेज के लिए कैसे मनाऊं?

जब जीवन भर किसी के साथ जिंदगी निभाने का वादा किया हो और पार्टनर अचानक से ही रिश्ता तोड़ दे, तो उससे ज्यादा बुरा कुछ नहीं होता। करीना कपूर खान और शाहिद कपूर के बीच भी एक ऐसा ही रिश्ता था, दोनों के ब्रेकअप की वजह आजतक साफ़ नहीं है। शाहिद उस समय बुरी तरह प्रभावित हुए थे जब करीना उन्हें बिना किसी कारण के छोड़ के चली गई थीं।

हालांकि, ब्रेकअप से उबरने के लिए लड़के ड्रिंक्स से लेकर दोस्तों के साथ हैंगऑउट करने तक का उपाय आजमाते हैं लेकिन इस हादसे के बाद वह फिर किसी नए रिलेशन में बंधने को तैयार नहीं होते।

कई रिश्तों में ऐसा देखा गया है कि बुरी तरह से दिल टूटने के बाद भी लड़के अपनी एक्स की यादों में ही खोए रहते हैं। ऐसे लड़कों के लिए जि़ंदगी का हर पल बेहद मुश्किल हो जाता है। यही नहीं, कई बार किसी तीसरे की एंट्री भी उनकी लाइफ को ट्रैक पर नहीं ला पाती। ऐसे में अगर आपके साथ भी ऐसा कुछ है तो सबसे पहले अपने दोस्तों से बात करें। यही नहीं आप जैसा महसूस करते उसे एक डायरी में लिखें, साथ ही साथ खुद को दोष देना बंद करें और जिन्हें आपकी कोई परवाह नहीं है उसे हर जगह से ब्लॉक करें।

परिवार की दखलंदाजी के चलते भी लड़के किसी नए रिश्ते में आने से कतराते हैं। इस बात में कोई दोराय नहीं कि रिश्ता टूटने के बाद हर कोई उस मानसिक स्थिति से बचना चाहता है, जिसका डर हर पल उनके मन में बना रहता है। इस बीच ज्यादातर लड़के अपनी फैमिली से बातें शेयर करने से नहीं कतराते।

ब्रेकअप के बाद अपनी प्रेमिका को वापस लाने के लिए भी बार-बार मिन्नतें करना भी लड़कों को इस गम से बाहर निकलने नहीं देती, जिसके चलते वह बुरी आदतों की लत में पड़ जाते हैं। ऐसे में समय में उनको अपनी एक्स को भुलाने का यही एकमात्र उपाय समझ में आता है।

0 views0 comments

Recent Posts

See All

सोने की लंका लुटी पांच सितारा उपचार में

आलोक पुराणिक कबीरदास सिर्फ संत ही नहीं थे, अर्थशास्त्री थे। उनका दोहा है—सब पैसे के भाई, दिल का साथी नहीं कोई, खाने पैसे को पैसा हो रे, तो जोरू बंदगी करे, एक दिन खाना नहीं मिले, फिरकर जवाब करे। सब पैस

पश्चिम बंगाल में चुनावी कटुता भुलाने का समय

कृष्णमोहन झा/ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और केंद्र की मोदी सरकार के बीच टकराव का जो सिलसिला ममता बनर्जी के दूसरे कार्यकाल में प्रारंभ हुआ था वह उनके तीसरे कार्यकाल की शुरुआत में ही पहले स

उत्पादकता बढ़ाने में सहायक हो ऋ ण

भरत झुनझुनवाला वर्तमान कोरोना के संकट को पार करने के लिए भारत सरकार ने भारी मात्रा में ऋण लेने की नीति अपनाई है। ऋण के उपयोग दो प्रकार से होते हैं। यदि ऋण लेकर निवेश किया जाए तो उस निवेश से अतिरिक्त आ