कम भार वाली सड़क पर ज्यादा भार के चले डंपर उखड़ गया डामर, हो गए गड्ढ़े


डोलरिया । नर्मदापुरम । ( निप्र )। डोलरिया तहसील के करीब एक दर्जन गांवों के ग्रामीणों को बड़ी मुश्किल से सड़क की सौगात मिली थी। कई वर्षों से सड़क की मांग की जा रही थी। शासन ने सड़क बनवाई ही थी कि उस पर रेत माफिया द्वारा ओवर लोड डंपर 40 टन के बजन वाले ट्रक बेरोकटोक चलाए हैं। जिससे और लगातार वर्षा के कारण खस्ताहाल हो गई है। तालनगरी, गुनौरा पालनपुर, सावलखेड़ा मार्ग की सड़क पर रेत से भरे भारी डंपर चलने से सड़क के खराब होने से ग्रामीणों का सड़क का सपना अधूरा ही है। इस बात का गुनौरा और पालनपुर गांव के लोगों के द्वारा विरोध भी किया गया था लेकिन रेत माफिया के आगे उनका भी वश नहीं चल पाया। ग्रामीणों से डंपर चालक नहीं माने हैं।

सड़क की क्षमता से अधिक लोड

लोकनिर्माण विभाग के अधिकारियों से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि यह सड़क मरम्मतीकरण निधि से बनाई गई है। इस सड़क की क्षमता 20 टन भार की ही है। इस पर दो गुने बजन से भारी वाहन चलने से सड़क जगह जगह से खराब हो गई है। सड़क को डंपरों ने खराब किया है और दोषारोपण हम पर होगा कि सड़क बेकार बनाई गई है।

लंबे समय से हो रही थी सड़क की मांग

इस क्षेत्र के नागरिक पालनपुर गांव के जागरूक युवा पुरूषोत्तम वर्मा और श्रवण वर्मा ने कहा कि बीते 12 वर्ष से क्षेत्र के लोगों को पक्की सड़क का इंतजार हो रहा था। सड़क का कार्य धीरे-धीरे शुरू हुआ। दो वर्ष में भी तालनगरी से लेकर पालनपुर तक की सड़क बन पाई है।

2 करोड़ की सड़क 20 हजार लोगों को फायदा

विभागीय अधिकारियों ने बताया कि सड़क का निर्माण करीब दो करोड़ की लागत से किया गया है।

इससे तालनगरी, गुनौरा, पालनपुर व सावलखेड़ा तथा इससे लगे हुए गांव नानपा, कजलास, टिगरिया, खरखेड़ी, खोकसर, सहित और भी आसपास के गांवों के 20 हजार से भी अधिक लोगों को फायदा हो रहा था। अब फिर परेशानी होगी।

ग्रामीणों व किसान नेताओं में नाराजगी

ग्रामीण क्षेत्र के नागरिक व किसान नेताओं में सड़क पर भारी वाहन चलने पर नारागजी बन रही है।

गुनौरा आनंद गौर, तालनगरी के शिवा दुबे, पालनपुर के पुरूषोत्तम वर्मा, श्रवण वर्मा, टिगरिया के केशव गौर,, खरखेड़ी के सुदीप पटेल लक्ष्मण गौर आदि अनेक लोगों ने नाराजगी व्यक्त की है।

2 views0 comments