कम नहीं हो रही बंगाल भाजपा की मुश्किलें, अमित शाह के दौरे से पहले 15नेताओं ने दिया पार्टी से इस्तीफा


कोलकाता (ए)। पश्चिम बंगाल में भाजपा के दिन मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। हर रोज कोई ना कोई नेता पार्टी का दामन छोड़ रहा है। पश्चिम बंगाल में पार्टी को हो रहे नुकसान की वजह से खुद केंद्रीय मंत्री अमित शाह अब सक्रिय हो गए हैं। वह 4 मई को पश्चिम बंगाल दौरे पर जा रहे हैं। इन सब के बीच एक बार फिर से 15 भाजपा कार्यकर्ताओं ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। सभी कार्यकर्ता उत्तर 24 परगना जिले के बारासात के बताए जा रहे हैं। फिलहाल बारासात जिला अध्यक्ष तापस मित्रा ने इस पर कुछ बोलने से इनकार कर दिया है। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद भाजपा को बड़ा झटका लगा था जब वह 100 सीटों पर जीत हासिल नहीं कर सकी। पहले तो तृणमूल कांग्रेस से आए नेताओं ने पार्टी छोड़ी। बाद में भाजपा के कुछ लोगों ने भी आंतरिक कलह की वजह से पार्टी छोड़ दिया। हाल में ही पश्चिम बंगाल में आसनसोल लोकसभा सीट पर उपचुनाव हुए थे। परिणाम सामने आने के बाद ही 3 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था। इसके अलावा 18 भाजपा नेताओं ने पार्टी छोड़ दिया था। पार्टी छोडऩे वाले कई नेताओं का आरोप है कि हमारे साथ भेदभाव हो रहा है। वफादार कार्यकर्ताओं को आगे बढ़ाने की कोशिश हो रही है। फिलहाल बंगाल में भाजपा की राह आसान होने वाले नहीं है। 2024 की तैयारियों को लेकर पश्चिम बंगाल अभी भी भाजपा के लिए बहुत जरूरी है। पश्चिम बंगाल विधानसभा में भाजपा ने 77 सीटें जीती थीं। लेकिन अब यह संख्या 70 रह गई है। निगम चुनाव के दौरान भी आंतरिक कलह सामने आई थी। पार्टी के कई कार्यकर्ता राज्य के संगठन से खुश नहीं है। फिलहाल इस को लेकर कोई भी कुछ बोलने को तैयार नहीं है। पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष सुकांता मजूमदार भी इस पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया हैं। दूसरी ओर भाजपा का ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ हल्ला बोल जारी है।

0 views0 comments