ऑक्सीजन प्लांट के लिये मोहासा बावई औद्योगिक कारीडोर में बना उच्चदाब सब-स्टेशन

रिमोट से ऊर्जीकृत होने वाला प्रदेश का दूसरा सब-स्टेशन


भोपाल ( निप्र )। मध्यप्रदेश पॉवर ट्रांसमिशन कंपनी ने मध्यप्रदेश औद्योगिक विकास निगम की आवश्यकतानुासर नर्मदापुरम जिले के मोहासा बावई औद्योगिक कारीडोर में आईनाक्स ऑक्सीजन प्लांट के लिये 48 करोड़ 9 लाख की अनुमानित लागत से 132 के.व्ही. का नया अति उच्चदाब विद्युत सब-स्टेशन तैयार किया है। तिरसठ एम.व्ही.ए. क्षमता के साथ गत दिवस इसे हयूमन मशीन इंटरफेस तकनीक के जरिये जबलपुर कंट्रोल रूम से रिमोट द्वारा ऊर्जीकृत किया गया। प्रदेश में रिमोट से ऊर्जीकृत होने वाला 132 के.व्ही. सब-स्टेशन ढ़ीमरखेडा (कटनी) के बाद यह दूसरा अति उच्चदाब का सब-स्टेशन है। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने इस उपलब्धि के लिए पूरे स्टॉफ को बधाई दी है। इस सब-स्टेशन के ऊर्जीकृत होने से न केवल ऑक्सीजन प्लांट सहित मोहासा बावई औद्योगिक कारीडोर की विभिन्न इकाईयों को उचित वोल्टेज की गुणवत्तापूर्ण बिजली उपलब्ध हो सकेगी बल्कि इस क्षेत्र से जुड़े मोहासा, माधवन, झासरसेठ, गोरदियामोती, पीलाखखार, चापलासर, मकोडिया, संगाखेड़ा कलां सहित लगभग 30 गांवों के करीब 4000 घरेलू एवं कृषि विद्युत उपभोक्ताओं को भी न्यूनतम व्यवधान के साथ गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति उपलब्ध रहेगी।

132 के.व्ही. फीडर से सप्लाई होगी ऑक्सीजन प्लांट को

150 मीट्रिक टन प्रतिदिन उत्पादन क्षमता के आईनाक्स ऑक्सीजन प्लांट को 132 के.व्ही. वोल्टेज लेबल पर विद्युत सप्लाई की आवश्यकता थी जिसके मद्देनजर मध्यप्रदेश पॉवर ट्रांसमिशन कंपनी ने मोहासा बावई औद्योगिक कारीडोर में एक अति उच्चदाब सब-स्टेशन बनाने का निर्णय लिया। इसके लिये 220 के.व्ही. सब-स्टेशन बुदनी से 132 के.व्ही. की डबल सर्किट सप्लाई प्रदेश में पहली बार पाईल फाउंडेशन के सहारे लायी गई। सब-स्टेशन का निर्माण समय से पहले पूर्ण कर लिया गया।

प्रदेश का 409वां सब-स्टेशन

मोहासा बावई मध्यप्रदेश का 409वां अति उच्चदाब का सब-स्टेशन है, मध्यप्रदेश में इस समय 400 के.व्ही. के 14 सब-स्टेशन, 220 के.व्ही. के 86 सब-स्टेशन तथा 132 के.व्ही. के 309 सब-स्टेशन संचालित है। मध्यप्रदेश पॉवर ट्रांसमिशन कंपनी के लिये इस सब-स्टेशन एवं अति उच्चदाब लाइनों का निर्माण मेसर्स श्याम स्टील ने किया है।

0 views0 comments