एयर इंडिया के नए सीईओ विल्सन को गृह मंत्रालय ने दी सुरक्षा संबंधी मंजूरी

- विल्सन को टाटा सन्स ने 12 मई को सीईओ के पद पर किया था नियुक्त

- कैम्पबेल विल्सन का एयर इंडिया के सीईओ बनने का रास्ता साफ




नई दिल्ली, (ए.)। एयर इंडिया के नवनियुक्त मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) कैम्पबेल विल्सन को गृह मंत्रालय ने सुरक्षा संबंधी मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही विल्सन के लिए टाटा समूह की अगुवाई वाली एयरलाइन की बागडोर संभालने का रास्ता साफ हो गया है। टाटा सन्स ने 12 मई को एयर इंडिया के सीईओ और प्रबंध निदेशक (एमडी) के पद पर विल्सन की नियुक्ति करने का ऐलान किया था।

गृह मंत्रालय के सीनियर अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि कैम्पबेल विल्सन को सुरक्षा मंजूरी दे दी गई है। हालांकि, इस बारे में एयर इंडिया की ओर से फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल पाई है। नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के नियमों के तहत एयरलाइन के मुख्य अधिकारियों की नियुक्ति के लिए गृह मंत्रालय से मंजूरी लेना जरूरी होता है। इससे पहले विल्सन सिंगापुर एयरलांइस की सब्सिडियरी स्कॉट एयर के सीईओ के पद पर कार्यरत रहे हैं, जो सिंगापुर एयरलाइंस विस्तारा में टाटा ग्रुप का एक ज्वाइंट वेंचर पार्टनर है।

टाटा सन्स ने एयर इंडिया को खरीदने के कुछ हफ्तों के बाद तुर्की एयरलाइन के पूर्व चेयरमैन इल्कर आयसी का नाम एयरलाइन के एमडी और सीईओ के तौर पर रखा था लेकिन आयसी ने एयर इंडिया को ज्वाइन करने से इंकार कर दिया था। कैम्पबेल विल्सन का एयर इंडिया के सीईओ बनने का रास्ता साफ हो गया है।



0 views0 comments