एका ने लॉन्च की पहली इलेक्ट्रिक बस एका ई9

मुंबई (आरएनएस)। इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता एवं पिनेकल इंडस्ट्रीज की सहायक कंपनी एका ने आज अपनी पहली इलेक्ट्रिक और शून्य उत्सर्जन बस एका ई9 लॉन्च की। कंपनी ने कहा कि ई9, एका की बैटरी से चलने वाली पहली इलेक्ट्रिक बस है। इस वाहन का डिजाइन बेहद सुगठित है, साथ ही मोनोकॉक स्टेनलेस- स्टील चेसिस और पूरी तरह से मिश्रित संरचना की वजह से इसकी पावर और रेंज अधिकतम है। कम्बस्चन इंजन से चलने वाले मौजूदा बसों की तुलना में एका ई9 कीमत काफी कम है, जिसके चलते यह वाहन अपने सभी हितधारकों को स्थायित्व और लाभ कमाने के बेहतर अवसर प्रदान करने का वादा करता है। इस बस का अनावरण महाराष्ट्र के पर्यटन, पर्यावरण और प्रोटोकॉल मंत्री आदित्य ठाकरे और एका एवं पिनेकल इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अध्यक्ष डॉ. सुधीर मेहता द्वारा पुणे अल्टरनेट फ्यूल कॉन्क्लेव में किया गया, जो महाराष्ट्र सरकार की एक पहल है। एका ई9 में ईसीएएस के साथ-साथ आगे और पीछे की तरफ एयर सस्पेंशन लगाए गए हैं। 2500 मिलीमीटर की चौड़ाई, 31+डी+व्हीलचेयर के साथ यह बस यात्रियों के लिए पर्याप्त जगह प्रदान करती है। बस में प्रवेश एवं निकास द्वार के पायदान को एर्गोनॉमिक तरीके से नीलिंग फीचर्स के साथ डिज़ाइन किया गया है जो सतह से सिर्फ 650 मिलीमीटर की ऊंचाई पर लगाए गए हैं। एका ई9 में एक इलेक्ट्रिक मोटर लगाया गया है, जो 200 किलोवाट की अधिकतम पावर तथा 2500 एनएम का टॉर्क उत्पन्न करता है तथा वाहन को तुरंत तेज गति प्रदान करने की क्षमता, अधिक हॉर्सपावर, अधिक कर्षण शक्ति, इस उद्योग जगत में सबसे अधिक विश्वसनीयता प्रदान करता है। इसके अलावा, 17 प्रतिशत ग्रेडेबिलिटी और रीजेनरेटिव ब्रेकिंग सिस्टम की मदद से यह वाहन किसी भी तरह के इलाके की सडक़ों पर आराम से दौडऩे में सक्षम है। इसमें बेहद दमदार ली-आयन बैटरी लगाई गई है जो शहरों में वाहन चलाने के लिए सबसे उपयुक्त है, साथ ही इसका बैटरी सिस्टम बेहद सुरक्षित, टिकाऊ और कुशल है। हल्के स्टेनलेस स्टील मोनोकॉक चेसिस की वजह से इस बस की संरचना बेहद मजबूत और अत्यंत टिकाऊ है, साथ ही पारंपरिक बसों के विपरीत इसका मिश्रित बॉडी पैनल जंग-रहित है। एका श्व9 की इस श्रेणी में सर्वोत्तम सुरक्षा सुविधाओं में श्वक्चस् के साथ फ्रंट एवं रियर डिस्क ब्रेक, सीसीएस2 प्रोटोकॉल फास्ट चार्जर, चार कैमरा, इमरजेंसी स्टॉप बटन, अग्निशामक यंत्र, ऑटोमैटिक ड्राइवर असिस्टेंस सिस्टम (एडीएएस) शामिल हैं।इस मौके पर डॉ. मेहता ने कहा, वाणिज्यिक उपयोग एवं सार्वजनिक परिवहन के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों खास तौर पर इलेक्ट्रिक बसों का निर्माण, भारत में कार्बन के उत्सर्जन को कम करने की रणनीति के लिए बेहद अहम है। आज हम अपनी पहली इलेक्ट्रिक बस, एका ई9 को लॉन्च करते हुए बेहद उत्साहित महसूस कर रहे हैं ताकि शहरों को अपने शून्य-उत्सर्जन के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए सशक्त बनाया जा सके।


0 views0 comments