• dainik kshitij kiran

ईरान का अमेरिकी सेना के ठिकाने पर एक और रॉकेट हमला

इस बार अल-तजी मिलिट्री कैंप निशाने पर



बगदाद । इराक में अमेरिकी सेना के ठिकाने पर फिर हमला हुआ है। ताजा हमला मंगलवार की रात अल-तजी मिलिट्री कैंप पर हुआ है। इराकी पुलिस को उसके एयरबेस पर रॉकेट दागे जाने की सूचना मिली है। बताया जा रहा है कि इस एयरबेस का इस्तेमाल अमेरिकी सेना करती है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि इस हमले का मकसद अमेरिकी सेना को निशाना बनाना था। हालांकि इससे फिलहाल जान माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है।

बता दें, इससे पहले भी ईरान ने बगदाद एयरपोर्ट पर अमेरिकी एयर स्ट्राइक में मारे गए अपने सैन्य जनरल कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेते हुए इराक में अमेरिकी एयरबेस पर हमला किया था। समाचार एजेंसी एएफपी न्यूज एजेंसी ने सैन्य सूत्रों के हवाले से बताया कि ईरान ने इराक में अमेरिकी एयरबेस पर चार रॉकेट दागे थे।

राजधानी बगदाद से उत्तर में स्थित अमेरिकी सैनिकों की तैनाती वाले इराकी एयरबेस पर रॉकेटों से हुए हमले में चार स्थानीय सैनिक घायल हो गए थे. इराक की सेना ने रविवार को यह जानकारी दी। सेना की ओर से जारी बयान के अनुसार, अल-बलाद एयरबेस पर कात्युसा श्रेणी के आठ रॉकेट गिरे। हमले में दो इराकी अधिकारी और दो पायलट घायल हुए हैं।

अल-बलाद इराक की एफ-16 के लिए मुख्य एयरबेस है। इन विमानों को इराक ने अपनी हवाई क्षमता बढ़ाने के लिए अमेरिका से खरीदा है। सैन्य सूत्रों ने बताया कि इस एयरबेस पर अमेरिकी वायुसेना की छोटी टुकड़ी और अमेरिकी ठेकेदार रहते थे, लेकिन पिछले दो सप्ताह में अमेरिकी-ईरान के बीच बढ़ते तनाव के मद्देनजर ज्यादा अमेरिकी यहां से पहले ही जा चुके हैं।

इससे पहले भी ईरान ने अपने सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेने के लिए बुधवार को इराक स्थित अमेरिकी सैन्य बलों के ठिकानों पर हमले किए। ईरान की रिवोल्यूशनरी गार्ड कोर ने एक बयान में कहा कि ‘ऑपरेशन मार्टिर सुलेमानी’ अमेरिकी हमलावरों के आपराधिक एवं आतंकी अभियान के जवाब और सुलेमानी की कायराना हत्या एवं दर्दनाक शहादत का बदला लेने के लिए था। इसमें कहा गया, ‘अमेरिकी आतंकी सेना के हमलावर हवाई प्रतिष्ठान पर जमीन से जमीन पर मार करने वाली दर्जनों मिसाइलें दागी गईं। एन अल असद, और यह ठिकाना नष्ट कर दिया गया।’

एएफपी के मुताबिक, ईरान ने बुधवार को बैलिस्टिक मिसाइलों से अमेरिकी एयरबेस पर हमला किया। ईरान ने अमेरिका से बदला लेने का पहले ही खुलासा कर दिया था। अमेरिकी एयरबेस पर हमले के बाद इराक ने कहा कि ईरान ने हमें पहले ही इस हमले की सूचना दे दी थी। इराक का कहना है कि ईरान ने अमेरिकी बलों पर 12 बैलिस्टिक मिसाइलों से अटैक की सूचना दे दी थी। बताया जा रहा है कि ईरान के इस हमले में 80 लोगों की मौत हो गई।

0 views0 comments

Recent Posts

See All

डोनाल्ड ट्रंप ने हमेशा के लिए अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स बंद किए

वॉशिंगटन, । अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनियों के फेसबुक और ट्विटर द्वारा प्रतिबंधित किए जाने के बाद हमेशा के लिए अपने सोशल मीडिया अकाउंट को बंद कर दिया है। उ

डब्ल्यूएचओ ने कहा, भारत में मिला कप्पा नहीं, सिर्फ डेल्टा वैरिएंट ही खतरनाक

संयुक्त राष्ट्र, । कोविड-19 के बी.1.617 स्ट्रेन का डेल्टा यानी बी.1.617.2 वैरिएंट ही दुनिया के लिए चिंता का विषय है। यह तथ्य विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अध्ययन में सामने आया है। ज्ञातव्य है

छिन सकती है नेतन्याहू की कुर्सी, इजराइल में सरकार बनाने के लिये विरोधी विचारधारा के दल एकजुट हुए

यरुशलम । करीब दो हफ्ते पहले जब इजराइल देश में सबसे बुरे सांप्रदायिक तनाव से जूझ रहा था, गाजा से रॉकेटों की बौछार हो रही थी, तब कौन सोच सकता था कि वामपंथी, दक्षिणपंथी और मध्यमार्गी जैसी विरोधी विचारधार