इंदौर में भीषण अग्निकांड, सात लोगों की मौत, नौ को बचाया गया

इंदौर, (ए)। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में शुक्रवार देररात एक इमारत में आग लग गई। इस हादसे में झुलसे सात लोगों की मौत हो गई। हादसा यहां की स्वर्णबाग कालोनी की दो मंजिला इमारत में हुआ। मृतकों में छह पुरुष और एक महिला शामिल है। सूचना मिलते ही आला अधिकारी और फायर ब्रिगेड के वाहन मौके पर पहुंचे और तेजी से आग पर काबू पाने के लिए प्रयास हुए । हादसे में नौ लोगों को रेस्क्यू कर बचा लिया गया। मरनेवालों में दो लोगों की अब तक पहचान नहीं हो सकी है। पुलिस कमिश्नर हरिनारायणचारी मिश्रा ने बताया कि विजय नगर थाना क्षेत्र की दो मंजिला बिल्डिंग में देररात तीन से चार बजे के बीच भीषण आग लग गई। इसका मुख्य कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है। सभी लोग गहरी नींद में सोए हुए थे। लोग कुछ समझ पाते तब तक आग ने विकराल रूप ले लिया और कुछ लोग झुलस गए और कुछ का दम घुट गया। पुलिस ने मृतकों के शव एमवाय अस्पताल भेज दिए हैं । मृतकों में नीतू सिसौदिया (45), ईश्वरसिंह सिसौदिया (45), गौरव (38), आशीष (30) और आकांक्षा (25) शामिल हैं। मरने वालों में 40 और 45 वर्ष के दो लोगों की पहचान नहीं हो पाई है।

उल्लेखनीय है कि स्वर्ण कॉलोनी खजराना रिंग रोड पर स्थित है । आग लगनेवाली दो मंजिला बिल्डिंग इंसाद पटेल की है। जिन लोगों की आग में झुलसने से मौत हुई है, वह इस बिल्डिंग में किराए से रहते थे। कुल 10 फ्लैट यहां बने हुए हैं। इनमें कुछ पढ़ाई करने वाले और कुछ लोग नौकरी करनेवाले रहते हैं । आग लगने के बाद पुलिस और फायर ब्रिगेड कर्मियों ने संयुक्त रूप से अपने जनबचाव से नौ लोगों को रेस्क्यू कर बाहर निकालने में सफलता हासिल की। यहां 13 टू व्हीलर और एक फोर व्हीलर गाड़ी भी जल गई है। घटनास्थल के आसपास रहनेवाले प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि रात को बिजली गुल हो गई थी, जब बिजली आई तो पार्किंग के मीटर में आग लग गई। रात करीब तीन बजे मोहल्ले वालों को शोर सुनाई दिया। लोग घरों से बाहर निकले तो बिल्डिंग की आग की लपटों मे घिरी नजर आई। लोगों ने अपने-अपने स्तर से पानी डालकर आग बुझाने का प्रयास किया और बिना समय गंवाए फायर ब्रिगेड को सूचना दी गई। पुलिस हादसे की जांच कर रही है।

0 views0 comments