आर्मी की टीम ने महज 3 दिन में बनाया बैली ब्रिज, 31 अगस्त से होगा आवागमन शुरू

कलेक्टर श्री नीरज कुमार सिंह ने सुखतवा पहुंचकर कार्य का लिया जायजा

नर्मदापुरम/ सुखतवा पर बेली ब्रिज बनाने के कार्य में आर्मी की टीम युद्ध स्तर पर जुटी हुई है। 80 जवानों की कंपनी द्वारा दिन-रात मौका स्थल पर काम किया जा रहा है। जवानों की टीम ने महज 3 दिन में ही बैली ब्रिज का संपूर्ण स्ट्रक्चर खड़ा किया है। अब फाइनल ट्रायल के बाद ब्रिज पर 31 अगस्त से आवागमन शुरू किया जाएगा। यह मध्यप्रदेश में नेशनल हाईवे पर बना पहला बेली ब्रिज होगा। नर्मदापुरम कलेक्टर श्री नीरज कुमार सिंह ने रविवार को सूखतवा पहुंचकर यहां कार्य का जायजा लिया। उन्होंने बैली के संबंध में आर्मी के वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा भी की। कलेक्टर ने यहां आर्मी की टीम के साथ भोजन भी किया। कलेक्टर स्वयं अपने घर से भोजन मिठाई और फल लेकर गए थे। इस दौरान एसडीएम इटारसी श्री मदन रघुवंशी भी उपस्थित रहे।

40 टन वजनी वाहन निकल सकेंगे

पुराने पुल के दोनों ओर से आर्मी की टीम ने बैली ब्रिज को कसा हैं। ब्रिज की लंबाई 93 फीट और चौड़ाई 10.5 फीट है। पुल का वजन 60 टन है। ब्रिज पर से 40 टन वजन के वाहन निकाले जाएंगे। बैली ब्रिज के दोनों हिस्से नदी के पुराने पुल के दोनों सिरे से जोड़े गए हैं । ब्रिज के दोनों तरफ लोहे की रेलिंग है और बीच में ही लोहे की मजबूत प्लेट्स लगाई गई है।बिज को वाहनों के लिए सुरक्षित किया गया है।

31अगस्त को होगा लोकार्पण

एसडीएम एमएस रघुवंशी ने बताया कि बैली ब्रिज का फाइनल ट्रायल 30 अगस्त तक पूरा होगा। बुधवार 31 अगस्त को लोकार्पण किया जायेगा। साथ ही बैली ब्रिज़ पर ही सेना के जवानों की बटालियन का सम्मान भी किया जाएगा।

2 views0 comments