आबे ने संविधान में बदलाव के लिए जनमत संग्रह कराने की इच्छा जताई


टोक्यो । जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने सितंबर 2021 से पहले देश के संविधान में बदलाव लाने के लिए जनमत संग्रह कराने की इच्छा जताई है। सत्तारूढ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रमख के रूप में उनका कार्यकाल इसी दौरान समाप्त हो रहा है।

आबे ने न्यूजबार हाशिमोटो ऑनलाइन कार्यक्रम के दौरान कहा, मेरा लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के अध्यक्ष के रूप में एक साल और तीन महीने का कार्यकाल अभी बाकी है और मैं इस समय सीमा से पहले संविधान में बदलाव लाने के लिए एक जनमत संग्रह का आयोजित कराना चाहूंगा। इस कार्यक्रम की मेजबानी ओसाका के पूर्व मेयर टारु हाशिमोटो ने की ।

प्रधानमंत्री आबे ने कानूनी स्पष्टता प्रदान करने के लिए संविधान में जापान के आत्मरक्षा बलों के अधिकार के संदर्भ मेंं इसे जोडऩे की मांग की है।

मुख्य कैबिनेट सचिव योशीहिदे सुगा ने शुक्रवार को कहा था कि सेना को आत्मरक्षा के संवैधानिक अधिकार से उनके पास और कोई अन्य विकल्प नहीं होने की स्थिति में इसके जरिए दुश्मन के ठिकानों पर हमला करने का अधिकार होगा।

0 views0 comments