आपराधिक प्रकरण के निराकरण में अनावश्यक विलंब बर्दाश्त नहीं किया जायेगा

6 माह से अधिक के प्रकरणों का प्राथमिकता से निराकरण करें

नर्मदापुरम (निप्र)। कलेक्टर नीरज कुमार सिंह की अध्यक्षता में शनिवार को कलेक्ट्रेट कार्यालय में राजस्व अधिकारियों की बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने एसडीएम कोर्ट, तहसीलदार कोर्ट एवं अन्य कोर्ट में राजस्व एवं आपराधिक प्रकरणों के निराकरण की स्थिति की विस्तार से समीक्षा की। बैठक में अपर कलेक्टर मनोज सिंह ठाकुर सहित सभी राजस्व अधिकारी उपस्थित रहे।

कलेक्टर श्री सिंह ने सभी राजस्व अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे आपराधिक प्रकरणों के निराकरण में अनावश्यक विलंब न करें। समय पर उपस्थित का वारेंट जारी कर प्रकरण का उचित निराकरण किया जाए। उन्होंने कहा कि कई ऐसे लोक हित से जुड़े मुद्दे है जिनमें समस्या निराकरण के लिए कानून में निहित प्रावधानों का उपयोग नही किया जा रहा हैं। उन्होंने निर्देशित किया कि लोक हित में बेहतर व्यवस्थाओं के लिए सभी एसडीएम धारा 133 एवं अन्य शक्तियों का भी उपयोग करें।

कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि 6 माह से अधिक के लंबित प्रकरणों का भी प्राथमिकता से निराकरण करें। प्रतिवेदन के अभाव में कोई भी प्रकरण लंबित न रहें। प्रकरणों को समय पर संबंधित कोर्ट में दर्ज किया जाए। कलेक्टर श्री सिंह ने अपर कलेक्टर को सभी अधिनस्त रेवेन्यू कोर्ट का निरीक्षण कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर ने राजस्व वसूली में भी तेजी लाने के निर्देश दिए।

कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि शासन की भूमि का संरक्षण राजस्व अधिकारियों की जिम्मेदारी हैं। सुनिश्चित करें कि नगरीय निकायों सहित अन्य विभागों को जिस उद्देश्य के लिए भूमि आवंटित की गई है,उसी उद्देश्य से उसका उपयोग हो। किसी भी स्थित में आवंटित भूमि का व्यावसायिक लाभ के उपयोग न हों। बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने बैठक में विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों की भी समीक्षा की।



1 view0 comments