आदि शक्ति मंदिर में आज होगी मातरानी की महाआरती

नर्मदापुरम(निप्र)। देवीदेवताओं के मंदिरों के शहर तीर्थ स्थल नर्मदानगरी नर्मदापुरम में प्राय: सभी देवी देवताओं के प्रसिद्ध व आकर्षक मंदिर आकर्षण का केंद्र हैं। चैत्र माह की प्रतिपदा नवसंवतसर और नवरात्र के शुभारंभ से ही देवी मंदिरों में धार्मिक आयोजन हो रहे। सभी मंदिरों में पूजन पाठ के क्रम जारी रहे। देवी भक्तों के द्वारा व्रतोपासना की जा रही है। अनेक स्थानों पर घट स्थापना के साथ ही देवी प्रतिमा की स्थापना की गई। मंदिरों में सुबह से जल चढ़ाने वालों का तांता लग जाता है। देवी भक्तों के द्वारा विधि विधान से पूजा अर्चना के साथ ही धार्मिक अनुष्ठान किए जा रहे हैं।

शहर में तीन स्थनों पर देवी प्रतिमाओं की स्थापना की गई है। अनेक स्थानों पर जवारे स्थापित किए गए हैं। अब पूरे नवरात्र में देवी जी के भजन कीर्तन के आयोजन जारी हैं। कोठीबाजार में आदिशक्ति मंदिर की स्थापना को अनेक वर्ष हो चुके हैं। मंदिर के व्यवस्थापक प्रकाश तिवारी ने बताया कि यहां पर पहले एक छोटी मूर्ति थी। छोटी सी मढिय़ा थी। यहां पर शहर के प्रसिद्ध पंडित बटुक महाराज के द्वारा देवी प्रतिमा की स्थापना की गई थी। उसके बाद यहां पर जयपुर राजस्थान से मातारानी की मूर्ति लाकर विधिवत स्थापना की गई है। दोनों नवरात्र में यहां पर भजन कीर्तन व अन्य देवी आराधना का क्रम जारी रहता है।

मंदिर के गर्भग्रह में ज्योति व जवारे रखने का स्थान है। जहां पर आम लोगों का प्रवेश वर्जित है। मंदिर में हमेशा हर धार्मिक पर्व त्योहार पर अनुष्ठान, भजन कीर्तन के आयोजन के साथ ही सामाजिक कार्यक्रम किए जाते हैं। अष्टमी को महारानी की महाआरती की जाएगी।

चारों तरफ हरियाली छाई

शहर में मंदिर तो बहुत हैं। अनेक मंदिरों में वृक्ष भी हैं। लेकिन मंदिर के आसपास चारों तरफ वृक्ष हों ऐसे मंदिर कम ही हैं। कोठीबाजार के शक्ति मंदिर की एक विशेषता यह भी है कि यहां पर चारों तरफ हरियाली छाई हुई है। इसमें पं प्रकाश तिवारी के विशेष प्रयास रहें हैं। यहां पर स्वदेशी वृक्षों के साथ औषधीय पौधे भी मौजूद हैं।




0 views0 comments