आज होगी धनवर्षा-धनतेरस आज से शुरू होगा चार दिवसीय रोशनी का पर्व दीपोत्सव

बाजार में खरीदारी के लिए बढऩे लगी रौनक, व्यापािरयों को अच्छे व्यवसाय की उम्मीद


नर्मदापुरम (विलक्षण सक्सेना) । त्योहारों में विशेष स्थान रखने वाले दीपावली के चार दिवसीय रोशनी पर्व का शुभारंभ आज धनतेरस से हो रहा है। बाजार में धनतेरस से एक दिन पूर्व से ही रौनक होने लगी है। बाजार में त्योहारी खरीदी बढ़ गई है। शहर के सभी प्रमुख व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठानों को पूरी तरह सजावट कर ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए दुकान के सामने सामान रखना शुरू कर दिए हैं। वर्तन बाजार, आटोमोबाइल,व ज्वेलरी की दुकानदारों को धनतेरस से बहुत उम्मीद बंधी है। धनतेरस से संबंधित सबसे ज्यादा सजावट कसेरा बाजार और सराफा बाजार में हो चुकी है। धनतेरस पर बिकने वाले नए-नए किस्म के सामान और ग्राहकों की डिमांड के अनुसार सामग्री सजाई जा चुकी है। मुख्य बाजार के अनेक दुकानदारों ने अपनी दुकान के सामने टेंट लगा कर तथा दुकान को बाहर तक सजाने का क्रम शुरू कर दिए हैं। दुकानदारों ने बताया कि मुख्य बाजार में बिक्री धनतेरस से तेज होगी।

दो दिन जमकर होगी ग्राहकी

व्यपारियों को उम्मीद है कि अब दो दिन तक बाजार में लगातार ग्राहकी बढ़ेगी। यहां पर गुप्ता ग्राउंड में पटाका बाजार भी तैयार हो चुका है। धनतेरस से एक दिन पूर्व ही दुकानें लग चुकी हैं। इसी तरह एसएनजी स्टेडिम में लक्ष्मीजी मिट्टी के दिये और पूजन सामग्री की दुकानें लग गई है। पूजन सामग्री और दिए तथा दीपावली से संबंधित सामग्री बााजार में भी अनेक स्थानों पर बिक रहीं है। बड़ी संख्या में ग्रामीण क्षेत्र से छोटे दुकानदार आ गए हेैं। जिन्होंंने स्टेडियम में अपनी दुकान लगाई हैं। वहीं बिजली की सामग्री वाली दुकानों पर रोशनी के पर्व को उत्साह से मनाने के लिए रंग बिरंगी झिलमिलाती सीरीज और अन्य आयटम भी सज चुके हैं। बाजार पूरी तरह से सज गया है। इन सभी दुकानदारों अब अच्छी ग्राहकी की आश बंधी हुई है। सराफा बाजार के हीरालाल सोनी व केशव अग्रवाल,वर्तन बाजार के विजय करैया ने बताया कि धनतेरस पर अच्छी ग्राहकी की उम्मीद है।

मिल चुका है वेतन

अधिकांश कर्मचारियों को वेतन मिलना शुरू हो चुका है। जो कुछ रह गए हैं उन्हें भी आज कल में वेतन मिल जाएगा। वहीं अनेक विभागों से कई कर्मचारियों को बोनस भी मिल चुका है। जिससे उन्हें त्योहार पर खरीदी करना आसान हो गया है।

मूंग से किसानों की बल्ले-बल्ले

बीते दो माह से किसान मूंग का विक्रय कर रहे हैं उनके पास मूंग की राशि है। इसलिए किसानों को दीपावली की खरीदी करने के लिए धनराशि की कोई कमी नहीं है। कुछ किसानों का भुगतान होना शेष है। अधिकांश किसानों के खाते में मूंग की राशि आने से उनकी दीपावली भी अच्छे मन सकेगी।

3 views0 comments