आज खुलेंगे गंगोत्री-यमुनोत्री धाम के कपाट, केदारनाथ-बदरीनाथ में जानें कब शुरू होंगे दर्शन

उत्तरकाशी (आरएनएस)। विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री एवं यमुनोत्री धाम के कपाट मंलगवार आज 03 मई को अक्षय तृतीय पर देश विदेश के श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए जाएंगे। तय कार्यक्रमानुसार गंगोत्री धाम के कपाट सुबह 11:15 पर तो यमुनोत्री धाम के कपाट दोपहर 12:15 बजे श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए जाएंगे। केदारनाथ धाम के कपाट 06 मई और बदरीनाथ धाम के कपाट 08 मई को तीर्थ-यात्रियों के लिए खोल दिए जाएंगे। इसके बाद आगामी छह माह के लिए श्रद्धालु गंगोत्री एवं यमुनोत्री धाम में ही मां गंगा एवं यमुना के दर्शन के भागी बनेंगे। गंगोत्री मंदिर समिति के सचिव सुरेश सेमवाल ने बताया कि सोमवार को दोपहर 12:15 पर मां गंगा की उत्सव डोली अपने शीतकालीन प्रवास मुखबा गांव से गंगोत्री धाम के लिए रवाना हो गई है। जो रात्री विश्राम भैरव घाटी स्थित भैरव मंदिर में करेगी। वहीं मंगलवार सुबह 8 बजे गंगोत्री धाम पहुंचेगी। इसके बाद गंगोत्री धाम में प्रात: नौ बजे से विधिविधान के साथ गंगा पूजन, गंगा सहस्त्रनाम पाठ एवं विशेष पूजा-अर्चना के बाद 11:15 बजे गंगोत्री धाम के कपाट खोल दिए जाएंगे। यमुनोत्री मंदिर समिति के सचिव सुरेश उनियाल ने बताया है कि मंदिर के कपाट खोलने की पूरी तैयारी कर ली गई है।

बताया कि मंगलवार को 8.30 बजे प्रात: मां यमुना की उत्सव डोली शीतकालीन प्रवास खुशीमठ से पारंपरिक वाध्य यंत्रों की थाप पर शनिदेव की डोली की अगुवाई में यमुनोत्री धाम के लिए प्रस्थान करेगी। जहां विधिवत हवन और पूजा के बाद वैदिक मंत्रोच्चार के साथ यमुनोत्री धाम के कपाट दर्शनार्थ खोल दिए जाएंगे।

सीएम पुष्कर सिंह धामी आज गंगोत्री धाम में

उत्तरकाशी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एक दिवसीय भम्रण पर उत्तरकाशी आ रहे हैं। यह जानकारी देते हुए जिलाधिकारी अभिषेक रूहेला ने बताया कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी 3 मई को पूर्वाहन 9.15 बजे देहरादून से हैलीकॉप्टर द्वारा प्रस्थान करेगें तथा पूर्वाहन 9.55 बजे जनपद के हर्षिल हैलीपैड पहुंचेंगे।

इसके बाद मुख्यमंत्री धामी कार द्वारा पूर्वाह्न 10.30 बजे गंगोत्री धाम पहुंचकर गंगोत्री धाम के कपाटोद्घाटन में प्रतिभाग करेगें। इसके बाद श्री धामी कार द्वारा अपराह्न 12.45 बजे हर्षिल हैलीपैड पहुंचेगें तथा अपराह्न 1.20 बजे हर्षिल हैलीपैड से हैलीकॉप्टर द्वारा देहरादून के लिए प्रस्थान करेगें।


0 views0 comments