अवैध पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट से चार की मौत, छह घायल

मुरैना, (ए.)। बानमौर कस्बे में गुरुवार को एक मकान में बन रहे पटाखों में आग लगने के बाद तेज धमाके के साथ मकान जमींदोज हो गया। धमाके इतने तेज थे कि पूरे बानमौर कस्बे में ऐसा लगा जैसे भूकंप आ गया हो। इस घटना में चार लोगों की मौत हो गई, वहीं छह लोग घायल हो गए हैं। घायलों को गंभीर हालात में ग्वालियर में भर्ती कराया गया है बानमौर कस्बा स्थित जेतपुर रोड पर पूर्व सरपंच भूरा गुर्जर का मकान है। इस मकान में जमील खान किराए पर रहकर अवैध तरीके से पटाखा बनाने का काम करता था। बताया गया कि गुरुवार की सुबह 11 बजे के करीब जमील खान अपने पत्नी अन्नू खान एवं दो बच्चों के साथ घर पर मौजूद था। जमील की पत्नी खाना बना रही थी, वहीं वह खुद व उसके बच्चे पटाखा निर्माण कर रहे थे। इसी दौरान गैस से निकली लौ पास में ही रखे पटाखों तक पहुंच गई और आग लग गई। चूंकि पूरे कमरे में भारी तादाद में पटाखे रखे थे, इसलिए आग लगते ही वहां तेज धमाके होने लगे। वहां मौजूद विस्फोटक कितने खतरनाक थे, इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि पल भर में ही पूरा मकान ही भरभराकर गिर पड़ा। मकान के मलबे में जमील का पूरा परिवार दब गया। साथ ही उसी मकान में किराने की दुकान चलाने वाले निर्मल जैन, दुकान पर सामान लेने आए पप्पू मावई तथा छह वर्षीय बालक विजय प्रजापति भी मकान के मलबे में दब गए। आनन-फानन में मौके पर जेसीबी मशीन बुलाई गई और पुलिस एवं प्रशासन के आलाधिकारी भी घटना स्थल पर पहुंच गए।

जेसीबी से मलबा हटाकर उसमें दबे लोगों को बाहर निकाला गया। इस हादसे में जमील खान की पत्नी 35 वर्षीय अन्नू खांन, 8 वर्षीय पुत्री जोया, पहाड़ी गांव निवासी 45 वर्षीय पप्पू उर्फ जितेन्द्र मावई पुत्र महेन्द्र सिंह, छह वर्षीय गोलू उर्फ विजय पुत्र दिलीप प्रजापति की मौत हो गई है। घायलों में किराना दुकान का संचालक 40 वर्षीय निर्मल जैन ग्वालियर के अपोलो हॉस्पीटल में भर्ती हैं। 20 वर्षीय शहीद पुत्र जमील खान, 18 वर्षीय अमीन पुत्र जमील खांन, जैतपुर रोड़ निवासी विशाल बाल्मीक और राज वाल्मीक भी ग्वालियर में भर्ती हैं। इसके अलावा जमील का 10 वर्षीय पुत्र नवीन को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। घटना की जानकारी मिलने पर डीआईजी राजेश चावला, जिलाधीश बी कार्तिकेयन, पुलिस अधीक्षक आशुतोष बागरी भी पहुंच गए थे।

1 view0 comments