• dainik kshitij kiran

अमेरिका में मिला इंसान के आकार का मकड़ी का जाल, दहशत में आये लोग


मिसौरी, । अमेरिका के मिसौरी में वन विभाग को एक आम आदमी के कदकाठी के बराबर मकड़ी की जाल मिली है। इतने बड़े आकार का जाल देखने के लिए वहां बड़े पैमाने पर स्थानीय लोग भी पहुंचे। मकड़ी के इस जाल की विशालता को देखकर लोगों को यकीन नहीं हो रहा था कि यह वास्तविक है। जब वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि यह जाल स्पाइडर वेबर नाम की मकड़ी ने बुना है तब जाकर लोगों को विश्वास हुआ।

मकड़ी का यह जाल दो पेड़ों के बीच में फैला हुआ है। इसकी लंबाई और चौड़ाई तस्वीर देखने से ही समझ में आ रही है। सोशल मीडिया में कुछ लोगों ने इस मकड़ी के जाले की बुनाई की तारीफ की तो कुछ लोगों ने कहा कि रात के अंधेरे में कोई आदमी इस जाले में उलझ सकता है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि इस चिपचिपे पदार्थ और अंधेरी रात में जंगल में होने के कारण उसकी मौत हो जाए।

अमेरिका के कई पर्यावरणविदों ने ने लोगों को इस मकड़ी से सावधान रहने को कहा है। उनका कहना है कि ये आपके बागीचे और घर के आसपास भी जाले लगा सकते हैं जिसमें फंसकर किसी छोटे बच्चे को गंभीर नुकसान पहुंच सकता है।

वन विभाग ने बताया कि स्पाइडर वेबर मकड़ी अपने जटिल बुनाई पैटर्न के लिए जानी जाती है। मिसौरी रीजन में ऑर्ब-वेइंग मकडिय़ों की कई प्रजातियां हैं, इन सभी को स्पॉटेड ऑर्बवर्स कहा जाता है। इनमें से कुछ के बीच भेद कर पाना कई विशेषज्ञों के लिए भी आसान नहीं होता है। इस मकड़ी की लंबाई आम तौर पर एक इंच से कम ही होती है।

0 views0 comments

Recent Posts

See All

डोनाल्ड ट्रंप ने हमेशा के लिए अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स बंद किए

वॉशिंगटन, । अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनियों के फेसबुक और ट्विटर द्वारा प्रतिबंधित किए जाने के बाद हमेशा के लिए अपने सोशल मीडिया अकाउंट को बंद कर दिया है। उ

डब्ल्यूएचओ ने कहा, भारत में मिला कप्पा नहीं, सिर्फ डेल्टा वैरिएंट ही खतरनाक

संयुक्त राष्ट्र, । कोविड-19 के बी.1.617 स्ट्रेन का डेल्टा यानी बी.1.617.2 वैरिएंट ही दुनिया के लिए चिंता का विषय है। यह तथ्य विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अध्ययन में सामने आया है। ज्ञातव्य है

छिन सकती है नेतन्याहू की कुर्सी, इजराइल में सरकार बनाने के लिये विरोधी विचारधारा के दल एकजुट हुए

यरुशलम । करीब दो हफ्ते पहले जब इजराइल देश में सबसे बुरे सांप्रदायिक तनाव से जूझ रहा था, गाजा से रॉकेटों की बौछार हो रही थी, तब कौन सोच सकता था कि वामपंथी, दक्षिणपंथी और मध्यमार्गी जैसी विरोधी विचारधार