अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया से सुरक्षा संवाद करेगा भारत, बौखलाया चीन

0-6 अक्टूबर को टोक्यो जाएंगे एस जयशंकर


नईदिल्ली । भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर प्रसाद ने अपने टोक्यो दौरे से पहले कहा कि वो लोकतांत्रिक देशों से अपने सम्बन्ध मज़बूत करने से नहीं झिझकेंगे। बता दें कि जयशंकर 6 अक्टूबर को जापान की दो दिवसीय यात्रा के लिए रवाना होंगे। जय शंकर 'चतुर्भुज सुरक्षा संवाद में शामिल होने के लिए जापान की राजधानी टोक्यो जा रहे हैं। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पिओ भारत, जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका के समूह 'चड की दूसरी मंत्रिस्तरीय बैठक में भाग लेने के लिए टोक्यो की यात्रा करेंगे, लेकिन पहले से निर्धारित योजना के अनुसार मंगोलिया और दक्षिण कोरिया नहीं जाएंगे। विदेश मंत्रालय ने यह जानकारी दी है।

चड भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के बीच अनौपचारिक रणनीतिक वार्ता का मंच है। इस मुद्दे पर सरकार के विचारों के बार में जानकारी रखने वाले एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि भारत को अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के साथ चड संवाद को औपचारिक रूप से लागू करने में कोई आपत्ति नहीं है क्योंकि 2019 में यूएनजीए के किनारे होने वाले विदेश मंत्रियों की बैठक के साथ 2017 से पहले से ही बातचीत हो रही है। यदि अन्य तीन सदस्य चाहते हैं बातचीत को संस्थागत बनाने के लिए, भारत भाग लेने के लिए तैयार है।

चीन इस वार्ता से इतना खफा है कि उसने इन चार देशों के समूह के बार में कहा है कि ये एक तरह की गुटबाजी है। चीन इन देशों पर कूटनीतिक दबाव बनाने की कोशिश भा कर सकता है। पूर्व एशियाई और प्रशांत मामलों के अमेरिकी सहायक सचिव डेविड स्टिलवेल ने पिछले शुक्रवार को कहा, चड इंडो-पैसिफिक सिद्धांतों को स्थापित करने, उन्हें बढ़ावा देने और सुरक्षित करने का प्रयास करता है, विशेष रूप से तब जब पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना की रणनीति, आक्रामकता, और क्षेत्र में जबरदस्ती बढ़ जाती है।

2 views0 comments