अफगानिस्तान को 2000 टन गेहूं भेजेगा भारत


नई दिल्ली (आरएनएस)। भारतीय गेहूं की गुणवत्ता की अफगानिस्तान द्वारा तारीफ किए जाने का जिक्र करते हुए भारत ने कहा कि इस युद्ध प्रभावित देश को मानवीय सहायता के तौर पर पाकिस्तान की सीमा के जरिए वह 4,000 टन गेहूं भेज चुका है। आठ मार्च को 2,000 टन अनाज की तीसरी खेप भेजी जाएगी।

भारत ने कहा कि भारत ने अफगानिस्तान को पाकिस्तान के स्थल मार्ग के माध्यम से 125 करोड़ रुपये मूल्य का कुल 50,000 टन गुणवत्तापूर्ण गेहूं पहुंचाने का संकल्प किया है। यह अनाज अफगानिस्तान के लोगों के बीच वितरण के लिए संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी विश्व खाद्य कार्यक्रम को दिया जाएगा। खाद्य मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट किया, मानवता सबसे ऊपर है। भारतीय किसानों को धन्यवाद कि भारत मानवीय सहायता के तौर पर गुणवत्तापूर्ण गेहूं अफगान में लोगों को आपूर्ति कर पाया है। भारत अपने मित्रों के साथ व्यवहार करना जानता है। खाद्य सचिव सुधांशु पांडे ने बाद में डिजिटल संवाददाता सम्मेलन में कहा, अफगानिस्तान को भारत से बहुत अच्छी सहायता मिली है। गेहूं की पहली खेप 22 फरवरी को भेजी गई थी। मार्च के आखिर तक 10,000 टन अनाज भेजा जाएगा। उन्होंने बताया कि बाकी 40,000 अनाज 2000-2000 टन कर भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि 50000 टन गेहूं की पूरी मात्रा एक महीने या उससे अधिक समय में पहुंचाई जाएगी। उनका कहना था कि इस साल आठ, 14 और 20 मार्च को पाकिस्तान सीमा होते हुए 2,000-2,000 टन गेहूं भेजा जाएगा।



0 views0 comments